Home >> Breaking News >> गोमती का पानी पीने लायक है या नहीं, बताएं: हाईकोर्ट

गोमती का पानी पीने लायक है या नहीं, बताएं: हाईकोर्ट


लखनऊ ,(एजेंसी) 09 सितम्बर । हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को गोमती के पानी के सैम्पल लेकर परीक्षण कराने का आदेश दिया है। कोर्ट जानना चाहती है कि पानी पीने योग्य है या नहीं। बोर्ड से एक माह बाद परीक्षण रिपोर्ट तलब की गई है। यह आदेश जस्टिस इम्तियाज मुर्तजा और जस्टिस एस एन शुक्ला की बेंच ने सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की ओर से दायर पीआईएल की सुनवाई करते हुए पारित किया।
high Court

2003 में याचिका दायर कर गोमती में गंदे पानी को गिरने से रोकने के लिए ट्रीटमेंट प्लांट का काम जल्दी पूरा कराने की मांग की गई थी। मंगलवार को याची ने ट्रीटमेंट प्लांट के बाबत संतुष्टि व्यक्त की। याची का कहना था कि गोमती का पानी अभी भी पीने लायक नहीं है। जबकि शहर की बहुसंख्यक आबादी वही पानी पीती है।
कहा गया कि गोमती के पानी का भी ट्रीटमेंट करने की जरूरत है। बेंच ने इस पर बोर्ड को आदेश दिया कि दौलतगंज से भरवारा के बीच चार जगह से पानी का सैंपल लेकर टेस्ट किया जाए और रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जाए। मामले की अगली सुनवाई एक माह बाद होगी।


Check Also

यूपी में दिल्ली मॉडल राजनीति की शुरुआत जिला पंचायत चुनाव से होगी : कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम

शाहजहांपुर। आम आदमी पार्टी (आप) जिला पंचायत के चुनाव में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराएगी। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *