Home >> Breaking News >> रक्षा मंत्रालय से 160 अरब की डील की फाइल गायब

रक्षा मंत्रालय से 160 अरब की डील की फाइल गायब


नई दिल्ली,(एजेंसी ) 18 सितम्बर । रक्षा मंत्रालय से एक बार फिर एक अहम फाइल गायब होने का मामला सामने आया है। गुम हुई फाइल ब्रिटिश हॉक एडवांस्ड जेट ट्रेनर (एजेटी) की खरीदारी से जुड़ी है। मंत्रालय ने फाइल गुम होने की जांच के आदेश दे दिए हैं। सूत्रों के अनुसार फाइल खोने की वजह से एजेटी मिलने में देरी हो सकती है।

Defence ministry

भारत ने पहली बार मार्च 2004 में डबल सीट वाले 66 हॉक एजेटी का ऑर्डर दिया था। उसके बाद वर्ष 2010 में 57 और एजेटी का ऑर्डर दिया। दोनों प्रॉजेक्ट की कुल लागत 16,000 करोड़ रुपये है। एडवांस्ड जेट ट्रेनर भारतीय वायु सेना और नौ सेना के पायलटों को लड़ाकू विमान की बारीकियों के बारे में प्रशिक्षित करने के लिए मंगाए जा रहे हैं।

जो फाइल गायब हुई है वह भारतीय वायु सेना की किरण एरोबेटिक्स टीम के लिए 20 एजेटी की खरीदारी से संबंधित है। सही एयरक्राफ्ट नहीं मिलने की वजह से इस टीम ने पिछले तीन साल से उड़ान नहीं भरी है। एजेटी खरीदारी का पूरा प्रॉजेक्ट 2017-2018 तक पूरा होना है। इस पर 20,000 करोड़ से अधिक की लागत आएगी।

इस परियोजना के तहत पहली बार 24 विमानों की सप्लाइ सीधे बीएई सिस्टम के जरिए की गई और शेष 119 विमानों का उत्पादन लाइसेंस समझौते के तहत भारत में ही हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लि. के द्वारा किया जा रहा है।

पहले भी गायब हुई है फाइलें:-

ऐसा दूसरी बार हुआ है जब रक्षा मंत्रालय से कोई अहम फाइल गायब हुई है। करीब तीन साल पहले 126 फाइटर विमानों की खरीद के लिए 20 बिलियन डॉलर लागत वाले समझौते से जुड़ी फाइल गायब हो गई थी। काफी बवाल मचने के बाद मे यह फाइल नई दिल्ली के एक इलाके से रहस्यमयी हालात में बरामद हुई थी और इसे एक नागरिक ने भारतीय वायु सेना के हवाले कर दिया गया था।


Check Also

‘जनऔषधि योजना के तहत महंगी दवाओं के दाम कई गुना कम हो गए हैं : PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि ‘जनऔषधि केंद्र से गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *