Home >> Breaking News >> मुस्लिम गरबा में आएं, तो मां या बहन साथ लाएं: भाजपा विधायक

मुस्लिम गरबा में आएं, तो मां या बहन साथ लाएं: भाजपा विधायक


भोपाल ,(एजेंसी) 20 सितम्बर । गरबा उत्सव में मुसलमानों की एंट्री पर इंदौर से शुरू हुआ विवाद अब भोपाल पहुंच गया है। हिंदू उत्सव समिति ने गरबा में आने वाले युवकों से अपना परिचय पत्र साथ लाने को कहा है, वहीं भोपाल से बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा का कहना है कि अगर मुस्लिम युवक गरबा महोत्सव में हिस्सा लेना चाहते हैं तो वे लिखकर दें कि हिंदू धर्म में उनकी आस्था है। साथ ही, जब वे गरबा में आएं तो अपनी मां या बहन को साथ लेकर आएं।

rameshwar Sharma

गरबा में मुसलमानों के प्रवेश का मुद्दा इंदौर से शुरू हुआ था। इंदौर की बीजेपी विधायक ऊषा ठाकुर ने सर्कुलर जारी करके इंदौर के सभी गरबा आयोजकों से अपील की थी कि वे अपने यहां मुस्लिम युवकों को न घुसने दें। उन्हें रोकने के लिए यह अनिवार्य करें कि जो भी युवक गरबा में हिस्सा लेने आएं, वे परिचय पत्र साथ रखें।

इस परिपत्र में यह भी कहा गया था कि हर साल लाखों हिंदू युवतियों को गुमराह करके उनका धर्म परिवर्तन करा दिया जाता है और खास तौर पर गरबा के दौरान हिंदू युवतियों को लव जिहाद की आड़ में फंसाया जाता है।

हालांकि ऊषा ठाकुर के इस बयान से बीजेपी ने खुद को अलग कर दिया था। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा था कि ऊषा ठाकुर सामाजिक संगठन चलाती हैं। उन्होंने जो भी फैसला लिया होगा, वह सोच-समझ कर लिया होगा। खुद ऊषा ठाकुर ने भी कहा था कि यह बीजेपी का नहीं, बल्कि इंदौर के सामाजिक संगठनों और प्रबुद्ध नागरिकों का फैसला है।

अब भोपाल से बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने भी यही मुद्दा उठाया है। कर्मश्री नाम से सामाजिक संस्था चलाने वाले शर्मा का कहना है कि मुस्लिम युवकों को गरबा उत्सव से दूर रहना चाहिए। गरबा महोत्सव के प्रति हिंदुओं की आस्था उतनी है, जितनी कि मुसलमानों की मक्का और मदीना को लेकर है। इसलिए उन्हें हिंदुओं की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए।

उनके मुताबिक, गरबा कोई डांस कॉम्पिटिशन नहीं है। अगर मुस्लिम युवकों की रुचि है और वे शामिल होना चाहते हैं, तो उनके घरवालों को भी पता लगे कि वे क्या कर रहे हैं। अगर इस दौरान महिलाओं के साथ कोई बदसलूकी होती है, तो इन युवकों के साथ आई इन महिलाओं को भी पता चले कि उनके असली इरादे क्या हैं।

भोपाल से कांग्रेस के विधायक आरिफ अकील ने भी गरबा में मुस्लिम युवकों के प्रवेश पर रोक का समर्थन किया है। लेकिन युवक कांग्रेस ने इस फैसले के विरोध का ऐलान किया है। इस मुद्दे पर अभी तक विश्व हिंदू परिषद या बीजेपी ने ने अधिकृत तौर पर कुछ भी नहीं कहा है। न ही राज्य सरकार ने कोई प्रतिक्रिया दी है।


Check Also

कोरोना संकट : जयपुर राजघराना सादगी भरा जीवन जीने वाले पूर्व सांसद पृथ्वीराज सिंह का निधन

जयपुर राजघराने में भी खौफनाक कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। इसकी वजह से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *