Home >> Breaking News >> अपने लक्ष्य से भटक रहा कौशल विकास मिशन

अपने लक्ष्य से भटक रहा कौशल विकास मिशन


लखनऊ ,(एजेंसी) 29 सितम्बर । बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षित कर रोजगार करने के लायक बनाने की सरकार की कौशल विकास मिशन योजना राजधानी में ही अपने लक्ष्य से भटक गई है। योजना शुरू होने के नौ महीने बाद भी अभी तक लक्ष्य के दस फीसदी लोगों को भी प्रशिक्षित नहीं किया जा सका है। कौशल विकास में समस्या एक और आ रही है कि बीते नौ महीने में यहां तीन निदेशक बदले जा चुके हैं।

Kaushal Vikash Mission

केंद्र सरकार की स्किल डिवलपमेंट पॉलिसी 2009 के तहत पिछले साल प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के तहत श्हर हुनरमंद को कामश् नाम से योजना शुरू की थी। योजना के तहत दिसंबर 2013 में कौशल विकास के लिए पंजीकरण कराए गए थे। इसमें प्रदेश भर से करीब 45 लाख युवाओं ने पंजीकरण कराया था। राजधानी में 35 ट्रेडों में 45,233 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया था। लेकिन उसके बाद से युवा प्रशिक्षण की राह ही देख रहे हैं लेकिन उनको कोई बुलावा नहीं आ रहा है।
दस फीसदी लक्ष्य भी पूरा नहीं

मिशन के तहत इस वर्ष राजधानी के 65 केंद्रों पर 13,614 अभ्यर्थियों को प्रशिक्षित किया जाना था। सात केंद्रों पर बैंकिंग में 260, आईसीटी में 54, ब्यूटी कल्चर में 20, हॉस्पिटैलिटी में 27, टेक्सटाइल में 54, गारमेंट टेक्नोलॉजी में 213 अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण के लिए चयनित किया गया था। जो तय लक्ष्य का दस फीसदी ही है। राज्य सरकार ने युवाओं को प्रशिक्षित करने के लिए 26 निजी प्रशिक्षण प्रदाता संस्थाओं (पीटीपी) को चुना था। लेकिन ये संस्थाएं भी प्रशिक्षण केंद्र खोलने में हीलाहवाली कर रही हैं। सूत्रों के मुताबिक इन संस्थाओं के पास न तो संसाधन हैं और न अधिकारियों की ओर से इन पर कोई दबाव है।

नौ महीने में बदले तीन डॉयरेक्टर

दिसंबर 2013 में शुरू की गई योजना का जिम्मा आईएएस विकास गोठलवाल को दिया गया था। लोकसभा चुनाव के समय उनका तबादला हो गया। उसके बाद निदेशक का चार्ज आईएएस भुवनेश्वर कुमार के पास रहा। तीसरे महीने ही इस पद पर आईएएस अभय की नियुक्ति हो गई। वह भी पद पर ज्यादा दिन तक नहीं रहे। अभी डेढ़ महीने पहले इस पद पर ऋतु माहेश्वरी की नियुक्ति हुई।

‘‘एजेंसियों को सेंटर शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। अभी हमारे पास समय है। अक्टूबर तक केंद्रों की शुरुआत कर दी जाएगी। मॉड्यूल और दूसरे विषयों का अभी हाल ही में निर्धारण किया गया है। प्रशिक्षण का लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।‘‘
– राजेंद्र प्रसाद , जिला समन्वयक , कौशल विकास मिशन


Check Also

नौ लोगों की मौत हो चुकी राहत कार्य तो दूर यहां मौके पर रेलवे का कोई बड़ा अफसर तक मौजूद नहीं है : CM ममता बनर्जी

कोलकाता के स्ट्रैंड रोड इलाके में स्थित एक इमारत की 13वीं मंजिल पर सोमवार शाम आग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *