Home >> Breaking News >> हॉकी: पाक को हराकर 16 साल बाद जीता गोल्ड

हॉकी: पाक को हराकर 16 साल बाद जीता गोल्ड


इंचियोन ,(एजेंसी ) 02 अक्टूबर । एशियन गेम्स में धड़कनें रोक देने वाले हॉकी मैच के फाइनल में भारत ने गुरुवार को पाकिस्तान को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराकर 16 साल बाद हॉकी का गोल्ड मेडल अपने नाम किया। भारत को इसके साथ ही रियो ओलिंपिक का टिकट मिल गया गया है। तय समय तक मैच का स्कोर 1-1 रहने के कारण फैसला नहीं हो पाने से मैच को पेनल्टी शूटआउट में ले जाना पड़ा। मैच के इस बेहद नाजुक पलों में भारतीय खिलाडियों ने गजब की मेंटल स्ट्रेंथ दिखाते हुए पाक को पस्त कर दिया। मैच के हीरो भारतीय टीम के उपकप्तान पीआर श्रीजेश रहे जिन्होंने मैच और पेनल्टी शूटआउट में शानदार बचाव से टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई।

India Hockey Match

भारत और पाकिस्तान 32 सालों बाद एशियन गेम्स के फाइनल में भिड़े थे। भारत ने इस जीत से इसी एशियन गेम्स के पूल मैचों में पाकिस्तान के हाथों मिली 1-2 की हार का भी बदला ले लिया। इससे पहले भारत ने 16 साल पहले बैंकॉक एशियन गेम्स में हॉकी का गोल्ड जीता था, जब धनराज पिल्लै टीम के कप्तान थे।

इससे पहले, मैच शुरू होते ही पाकिस्तान की टीम भारत पर हावी हो गई थी। पाक ने मैच के तीसरे मिनट में ही भारत पर 1-0 की बढ़त ले ली थी। पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद रिजवान ने पहला गोल दागा। पहले क्वॉर्टर में पाकिस्तान की डिफेंस लाइन और फॉरवर्ड लाइन भारत के मुकाबले कहीं बेहतर नजर आ रही थी।

भारतीय कप्तान सरदार सिंह फॉरवर्ड लाइन में खेलने के बजाए बार-बार डिफेंस में पहुंच जा रहे थे। पहले क्वॉर्टर में भारत एक भी दमदार अटैक नहीं कर सका। भारत की ओर से सुनील और दानिश ने कुछ अच्छे मौके बनाए, लेकिन उन्हें गोल में तब्दील नहीं कर सके। पहले क्वॉर्टर के खत्म होने पर दोनों टीमों के खिलाडियों के बीच कहासुनी भी देखने को मिली।

मैच के दूसरे क्वॉर्टर में 23वें मिनट में भारत को स्कोर बराबर करने का मौका मिला, लेकिन भारत के रुपिंदर के रॉकेट फ्लिक शॉट को पाकिस्तान के गोल कीपर इमरान बट ने शानदार तरीके से बचा लिया। इसके चार मिनट बाद ही देर बाद भारत के कोटजीत ने भारतीय खेमे में खुशी की लहर दौड़ा दी। उन्होंने स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। दूसरे क्वॉर्टर के खत्म होने पर दोनों टीमों का स्कोर 1-1 से बराबर हो गया था।

तीसरे क्वॉर्टर में दोनों टीमें एक-दूसरे पर ज्यादा हमलावर हो गईं लेकिन दोनों ने कई मौके भी गंवाए। सुनील का एक शॉट पाकिस्तान के गोल पोस्ट से महज पांच मीटर की दूरी पर रह गया था। इसके कुछ ही देर बाद पाकिस्तान ने भी एक पेनल्टी कॉर्नर गंवाया। भारतीय गोल कीपर श्रीजेश ने दो बार गोल बचाया तो मनप्रीत के पास पर रमनदीप का शानदार शॉट भी पाक कीपर बट ने खूबसूरती से बचाया।

चैथे क्वॉर्टर में कोई भी गोल नहीं होने से मैच के विजेता का फैसला नहीं हो सका। पाकिस्तान ने भारत के गोलपोस्ट पर लगातार हमले जारी रखे लेकिन, भारतीय गोलकीपर श्रीजेश ने खूबसूरती से बचाव किए। मैच खत्म होने के पांच मिनट पहले भारत ने एक पेनल्टी गंवाई जिसे पाक कीपर इमरान बट्ट ने शानदार तरीके से बचा लिया। लेकिन पेनल्टी शूटआउट में भारत के कीपर श्रीजेश ही मैच के हीरो साबित हुए और उन्होंने पाकिस्तानी खिलाडियों को अपने पोस्ट में सेंध नहीं लगाने दी।

भारत की टीम इस समय विष्व रैंकिंग में 9वें और पाकिस्तान की टीम 11वें नंबर पर है। दोनों टीमों के बीच अब तक 160 मै खेले गए हैं, जिसमें से भारत ने 53 और पाकिस्तान ने 79 मैच जीते हैं। 28 मै ड्रॉ रहे हैं। एशियन गेम्स में भारत पाकिस्तान 14 मैचों में आमने-सामने हुए हैं। इसमें भारत ने 4 और पाकिस्तान ने 8 मैच जीते हैं और दो मैच ड्रॉ हुए हैं। एशियन गेम्स के फाइनल में अब तक दोनों टीमें 8 बार आमने-सामने हुई हैं। इसमें भारत ने 2 और पाक ने 7 मैच जीते हैं।


Check Also

आने वाले तीन महीने काफी महत्वपूर्ण हैं अगर हम सावधानी बरतना जारी रखते हैं तो कोरोना महामारी के खतरे को टाल सकते हैं : दिल्ली AIIMS निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया

देश में कोरोना की दूसरी लहर थमती नजर आ रही है. पिछले 24 घंटे में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *