Tuesday , 21 September 2021
Home >> Breaking News >> इस वर्ष भी मानसून रहेगा सामान्य, किसानों की उम्मीद जगी

इस वर्ष भी मानसून रहेगा सामान्य, किसानों की उम्मीद जगी


नई दिल्ली : यह खबर पूरे देश के लिए खुशियां देने वाली है कि पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी मानसून सामान्य रहने की उम्मीद है. देश के अधिकांश इलाकों में अच्छी बारिश होगी. मौसम विभाग ने इस साल के अपने पहले पूर्वानुमान में यह आशा व्यक्त की . विभाग के डायरेक्टर जनरल केजे रमेश ने मंगलवार को बताया कि जून से सितंबर के दौरान देश में 96 प्रतिशत बारिश होगी. बता दें कि 96से 104 फीसदी बारिश होने को सामान्य मानसून कहा जाता है.

उल्लेखनीय है कि देश के लिए मानसून बहुत अहम है, क्योंकि देश के कुल खाद्य उत्पादन का 40 प्रतिशत समय से होने वाली बारिश पर निर्भर है. वहीं जून से सितंबर तक की अवधि वाला दक्षिण-पश्चिम मानसून देश की कुल बारिश का 80 फीसदी पानी देता है. अच्छे मानसून से खरीफ फसल की अच्छी पैदावार होती है. इससे गांवों में खपत और क्रय क्षमता बढ़ती है. जिससे पूरी अर्थव्यवस्था प्रभावित होती है. कंपनियां भी मानसून के आकलन से अपना उत्पादन तय करती है. अच्छे मानसून की भविष्यवाणी पर रिजर्व बैंक ब्याज दरों में कटौती करता है. इसके जरिए कारोबारी गतिविधियां तेज करने की कोशिश होती है.अच्छी पैदावार से महंगाई भी काबू में आती है. इससे अपरोक्ष रूप से रिजर्व बैंक को मदद मिलती है.

मौसम विभाग का कहना है कि इस बार अलनीनो का असर नहीं है. अलनीनो पिछले साल दिसंबर में अपनी चरम स्थिति पर था, जो धीरे धीरे कमजोर होता गया .अलबत्ता इंडियन ओशियनिक डायपोल (आईओडी) का मानसून पर असर दिख सकता है.इस आधार पर यह उम्मीद जताई जा रही है कि इस साल मानसून सामान्य रहेगा. मौसम विभाग अलनीनो और आईओडी पर निगरानी के लिए प्रशांत महासागर और हिंद महासागर की सतह की स्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं, ताकि अगला पूर्वानुमान और सटीक हो.


Check Also

दुनियाभर में मच्छरों के कारण होने वाली बीमारियो से बचाने को सरकारी तैयारियां बहुत छोटी

दुनियाभर में मच्छरों के कारण होने वाली बीमारियां हर साल हजारों लोगों की जान ले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *