Tuesday , 21 September 2021
Home >> Breaking News >> अन्नाद्रमुक से निकाले गए शशिकला और दिनाकरन

अन्नाद्रमुक से निकाले गए शशिकला और दिनाकरन


नई दिल्ली : राजनीति में अच्छे और बुरे दोनों तरह के दौर आते हैं. कोई पराया अपना हो जाता है तो, कहीं अपना पराया हो जाता है. ऐसा ही कुछ इन दिनों तमिलनाडु की राजनीति में भी चल रहा है.जबसे अम्मा जयललिता की मृत्यु हुई है, तब से राज्य में राजनीतिक उठापटक जारी है.पहले शशिकला ने ओ पन्नीरसेल्वम को सीएम पद से हटा कर उसे अन्नाद्रमुक से निकाल दिया.शशिकला के जेल जाने के बाद उनके उप महासचिव टीटी दिनाकरन ने जैसे पूरी पार्टी को अपने कब्जे में ले लिया था.लेकिन कल 20 मंत्रियों के एक ग्रुप ने पार्टी कैडर और अधिकारियों की से बातचीत के बाद शशिकला और टीटीवी दिनाकरण परिवार को अन्नाद्रमुक से बाहर कर दिया.तमिलनाडु के वित्त मंत्री डी जयकुमार ने देर रात तक चली बैठक के बाद ये जानकारी दी.

बता दें कि जयकुमार ने मीडिया को जो बताया उसके अनुसार 20 मंत्रियों के एक ग्रुप ने पार्टी कैडर और अधिकारियों की से बातचीत के बाद शशिकला और टीटीवी दिनाकरण परिवार को अन्नाद्रमुक से बाहर करने का निर्णय लिया है.जयकुमार के अनुसार इस परिवार ने जयललिता की मौत के बाद पार्टी को अपने नियंत्रण में ले लिया था. याद रहे कि अम्मा की मौत के बाद से ही पार्टी में लगातार उठापटक चल रही है और अन्नाद्रमुक पार्टी गुटों में बंट चुकी है, इनमें से एक का नेतृत्व शशिकला के पास है, और दूसरे गुट का नेतृत्व तमिलनाडु के पूर्व सीएम ओ पनीरसेल्वम कर रहे हैं.शशिकला आय से अधिक संपत्ति के मामले में जेल में हैं, इसलिए उनके उप महासचिव दिनाकरण पार्टी की नुमाइंदगी कर रहे हैं.

गौरतलब है कि मंगलवार को पूरे दिन ऐसा लग रहा था कि अन्नाद्रमुक में दो गुटों के बीच की खींचतान में ओ पनीरसेल्वम का गुट हार रहा है, क्योंकि पनीरसेल्वम की मांग को मुख्यमंत्री ई पलनीसामी के गुट में कोई मानने के लिए तैयार नहीं था लेकिन देर रात को 20 मंत्रियों की बैठक में एकदम उलट फ़ैसला सामने आया.जिससे सभी हैरान हैं. सभी मंत्रियों और पार्टी कैडर ने मिलकर ये निर्णय लिया है.सभी लोग यह नहीं चाहते कि एक परिवार हमारी पार्टी को नियंत्रण में रखे जिसमें दिनाकरण भी शामिल हैं.वित्त मंत्री डी जयकुमार ने कहा हमारे पास कुल 122 विधायकों का समर्थन है.जबकि अभी भी दिनाकरन को 20-25 विधायकों का समर्थन हासिल है.


Check Also

दुनियाभर में मच्छरों के कारण होने वाली बीमारियो से बचाने को सरकारी तैयारियां बहुत छोटी

दुनियाभर में मच्छरों के कारण होने वाली बीमारियां हर साल हजारों लोगों की जान ले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *