Home >> Exclusive News >> दिल्‍ली में भी ‘पूर्वांचल’ पर चढ़ा भगवा रंग

दिल्‍ली में भी ‘पूर्वांचल’ पर चढ़ा भगवा रंग


दिल्‍ली नगर निगम चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के पीछे पूर्वांचल फैक्‍टर ने भी काम किया. मनोज तिवारी के रूप में पूर्वांचल और बिहार के वोटरों को लुभाने में पार्टी कामयाब रही.कभी कांग्रेस महाबल मिश्रा के जरिए पूर्वांचल के वोटरों में दांव लगाती थी, लेकिन इस बार उसकी आपसी फूट की वजह से कोई रणनीति नहीं बन पाई.
मनोज तिवारी ने कहा कि ‘दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी दोनों ने पूर्वांचल वासियों को वोट बैंक तो बनाया पर कभी भी वह सम्मान नहीं दिया, जिसके वे हकदार थे. बीजेपी ने मुझे जो सम्मान दिया है, वह पूरे पूर्वांचल समाज का सम्मान है…’ अपने ऐसे बयानों से उन्‍होंने पूर्वांचल के वोटरों को साधा.

 बीजेपी की पूर्वांचल नीति कामयाब रही है. इससे यह भी लगता है कि भविष्‍य में दिल्‍ली की राजनीति में पूर्वांचल के लोगों का दखल और बढ़ेगा. यहां 35 से 40 फीसदी पूर्वांचल के लोग हैं, जो चुनावों में निर्णायक साबित हो रहे हैं.

वैसे पारंपरिक रूप से पूर्वांचल के मतदाता बीजेपी और कांग्रेस को ही मतदान करते रहे हैं, लेकिन वर्ष 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में इसमें आम आदमी पार्टी ने सेंध लगा ली और उसे प्रचंड जीत मिली.

जीत का जश्न
विश्‍लेषकों का कहना है कि इस बार यह वोट इसलिए भी बीजेपी को गया है क्‍योंकि मनोज तिवारी यहां अध्‍यक्ष हैं और यूपी में सीएम बनाए गए योगी आदित्‍यनाथ पूर्वांचल से हैं.
हालांकि पूर्वांचल के लोगों को सबसे ज्‍यादा 54 टिकट कांग्रेस ने दिए थे. बीजेपी ने 38, आम आदमी पार्टी ने 36 टिकट पूर्वांचल से आने वालों को दिए. लेकिन कामयाबी मिली बीजेपी को.


Check Also

छत्‍तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल ने कहा-राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों के जीवन में आया नया सवेरा…

छत्‍तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय राजीव गांधी जी की जयंती …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *