Home >> Breaking News >> काला धन रखने वालों के नाम खुले तो कांग्रेस होगी शर्मसार: जेटली

काला धन रखने वालों के नाम खुले तो कांग्रेस होगी शर्मसार: जेटली


नई दिल्ली , (एजेंसी) 22 अक्टूबर । वित्त मंत्री अरुण जेटली का मानना है कि विदेश में काला धन रखने वालों के नाम उजागर हो गए तो कांग्रेस को ही शर्मिदा होना पडे़गा। जेटली ने कहा कि विदेशी बैंकों में काला धन जमा करने वालों के नाम शीघ्र सार्वजनिक कर दिए जाएंगे। जिन खाताधारकों के खिलाफ भारतीय अधिकारी आरोप दायर कर रहे हैं, सरकार उनके नाम अदालत के सामने उजागर कर देगी।उन्होंने कहा, ‘मैं आपको आश्वासन देना चाहता हूं कि जब सारे नाम उजागर हो जाएंगे, तो हमारे लिए यह शर्मिदगी की बात नहीं होगी, लेकिन कांग्रेस को जरूर शर्मसार होना पड़ जाएगा।‘

arun jetly

बीजेपी पर इस मामले में अपनी बात से मुकरने के कांग्रेस के आरोप पर जेटली ने कहा कि मीडिया की गलत रिपोर्टिग के कारण ही कांग्रेस को आरोप लगाने का मौका मिल गया। सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाने के बाद मीडिया ने कहना शुरू कर दिया कि सरकार खाताधारकों के नाम उजागर करना नहीं चाह रही है, जबकि हमारा पक्ष यह था कि कानूनी तौर-तरीकों के मुताबिक ही हम विदेश में काला धन रखने वालों के नाम बताएंगे।

जेटली ने कहा कि जर्मनी के साथ दोहरे कराधान से बचाव का समझौता सरकार को सिर्फ मीडिया के सामने नाम सार्वजनिक करने से रोकता है। इसमें अदालत के सामने नाम खोलने पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

गौरतलब है कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने मंत्रियों के लिए सोमवार को दिए डिनर में उनसे कहा था कि विदेश में ब्लैक मनी जमा करने वाले जिन लोगों के खिलाफ जांच निर्णायक स्थिति में पहुंच गई है उनके नाम सरकार सुप्रीम कोर्ट में बताएगी।

वित्त के साथ-साथ रक्षा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे अरुण जेटली ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि यदि पाकिस्तान ने सीमा पर युद्धविराम का उल्लंघन जारी रखा तो उसे इसका अंजाम भुगतने के लिए भी तैयार रहना होगा। जेटली ने हालांकि यह भी कहा कि भारत बातचीत के लिए तैयार है और पाकिस्तान को इसके लिए उचित माहौल बनाना चाहिए।


Check Also

दुखद : दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की संख्या 9342 पहुची

लंबे समय से कोरोना की मार से कराह रही राजधानी दिल्ली के लिए राहत की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *