Home >> Breaking News >> दिल्ली मे हार के डर से सहमी है बीजेपी: आाप

दिल्ली मे हार के डर से सहमी है बीजेपी: आाप


नई दिल्ली, (एजेंसी) 26 अक्टूबर । दिल्ली की तीन सीटों पर विधानसभा के उपचुनावों की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही आम आदमी पार्टी ने बीजेपी पर हमला भी तेज कर दिया है। पार्टी नेताओं ने बीजेपी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए कहा है कि बीजेपी को दिल्ली में अपनी हार का डर सता रहा है, इसीलिए वो विधानसभा भंग करके पूरी दिल्ली में नए सिरे से विधानसभा चुनाव करवाने से बच रही है और केवल उपचुनााव करवा के खानापूर्ति कर रही है। पार्टी नेताओं ने दिल्ली में पैदा हुए संवैधानिक संकट के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि इसी के चलते पिछले 8 महीने से दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है।

AAM ADAMI PARTY

पार्टी ने यह भी साफ कर दिया है कि वह तीन सीटों पर हो रहे उपचनुावों में पूरे दमखम के साथ उतरेगी और तीनों सीटों पर जीत हासिल करके यह साबित कर देगी कि बीजेपी कितने पानी में है और लोकसभा चुनावों में चली नरेंद्र मोदी की लहर का दिल्ली में कितना असर है। उपचुनावों के सिलसिले में शनिवार की शाम को पार्टी के तमाम सीनियर नेताओं ने आगे की रणनीति बनाने के लिए एक बैठक भी की। हालांकि जिन 3 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं, उन तीनों ही सीटों पर बीजेपी का कब्जा था और आम आदमी पार्टी को उन पर हार का सामना करना पड़ा था।

पार्टी नेता मनीष सिसौदिया ने कहा कि उपचुनावों की तारीखों का ऐलान होने के बावजूद अगर बीजेपी विधानसभा भंग करके दिल्ली में नए सिरे से विधानसभा चुनाव करवाने का रास्ता साफ नहीं कर रही, तो इससे यह साफ हो जाता है कि वह दिल्ली में अपनी हार को लेकर किस कदर आश्वस्त है और इसी डर से वह नए चुनाव करवाने से बच रही है। सिसौदिया के मुताबिक आम आदमी पार्टी तीनों सीटों पर जीत दर्ज करेगी, लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है और बीजेपी तीनों सीटें जीत जाती है, तो भी दिल्ली में किसी की सरकार नहीं बनेगी क्योंकि बीजेपी की आप विधायकों को खरीदने की तमाम कोशिशें पहले ही नाकाम साबित हो चुकी है।

इस बीच आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर एक गंभीर आरोप लगाया है। शनिवार को ट्वीट करके केजरीवाल ने आरोप लगाया कि बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने दिल्ली बीजेपी के सभी विधायकों को निर्देश दिया है कि वो हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 5000 फर्जी वोटर तैयार करवाएं और आम आदमी पार्टी के वोटरों के नाम वोटर लिस्ट से हटवाएं।

केजरीवाल ने यह भी दावा किया है कि इस काम में लगे बीजेपी के एक आदमी के माध्यम से उन्हें यह पता चला है कि एक फर्जी वोटर बनवाने के लिए बीजेपी 1500 रुपये की घूस दे रही है, जबकि वोटर लिस्ट से नाम काटने के लिए प्रत्येक नाम के 200 रुपये के हिसाब से घूस दी जा रही है। पार्टी इस संबंध में सोमवार सुबह 11 बजे मुख्य चुनाव आयुक्त से मिलकर औपचारिक रूप से इस संबंध में उनके पास कंप्लेंट भी दाखिल करने जा रही है।


Check Also

पंजाब में नौकरी पाने का सुनहरा मौका, ऐसे करे अप्लाई

NHM (नेशनल हेल्थ मिशन) पंजाब ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में बी।एससी(नर्सिंग) तथा बीएएमएस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *