Home >> Breaking News >> शायद, अब भारत के लिए नहीं खेल सकूंगा: युवराज

शायद, अब भारत के लिए नहीं खेल सकूंगा: युवराज


नई दिल्ली, (एजेंसी) 29 अक्टूबर । टीम इंडिया के मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी युवराज सिंह ने यह कहकर सबको चैंका दिया कि शायद वह नैशनल टीम के लिए फिर कभी नहीं खेल पाएंगे। युवी ने इसके साथ ही जोड़ा कि अगर वह भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी करने में नाकाम रहते हैं तो इससे उन्हें काफी दुख पहुंचेगा।

YUV RAJ SINGH

कैंसर जैसी घातक बीमारी से उबरने के बाद युवराज ने भारतीय टीम में कुछ वक्त के लिए वापसी की थी। उन्होंने भारत की तरफ से आखिरी वनडे मैच दिसंबर 2013 में खेला था। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने ‘विजडन इंडिया‘ से कहा, ‘निश्चित तौर पर भारतीय टीम में वापसी करना मेरा लक्ष्य है। जब आप टीम में जगह नहीं बना पाते तो काफी निराशा होती है लेकिन पिछले दो साल उतार चढ़ाव वाले रहे। इसलिए यह मेरा फैसला नहीं है कि मुझे चुना जाएगा या नहीं। उम्मीद है कि चीजें बदलेंगी और मुझे फिर से चुना जाएगा। ऐसा नहीं होने पर जिंदगी काफी निराशाजनक होगी। मैं केवल प्रयास कर सकता हूं और अपना सर्वश्रेष्ठ कर सकता हूं।‘

क्या सच में अब युवराज नहीं दिखेंगे!
युवराज से पूछा गया कि क्या कभी उनके दिमाग में यह बात आई कि उन्हें फिर से कभी भारत की तरफ से खेलने का मौका नहीं मिलेगा, उन्होंने सकारात्मक जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर ऐसी संभावना है कि मैं फिर से भारत की तरफ से नहीं खेल पाऊं। मैंने इस पर विचार किया। लेकिन ऐसी भी संभावना है कि मैं फिर से भारत के लिए खेलूं। जब तक मैं यह सोचता रहूंगा कि मैं वापसी कर सकता तब तक मैं अपनी तरफ से हर संभव प्रयास करूंगा।‘

भारत की कई जीत में नायक रहे युवराज ने कहा कि टीम से बाहर चल रहे अन्य खिलाडि़यों, जैसे कि हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर के साथ वह अच्छे दिनों को लेकर बात करते हैं। उन्होंने कहा, ‘हम हमेशा उन दिनों के बारे में बात करते हैं जो हमने भारत की तरफ से खेलते हुए साथ में बिताए थे। हम सभी जानते हैं कि वे हमारी जिंदगी के शानदार साल थे। लेकिन जब आप टीम में नहीं होते हो तब भी जिंदगी आगे बढ़ती है। आपको केवल सकारात्मक रहकर, कड़ी मेहनत जारी रखनी होती है।‘

युवराज भले ही राष्ट्रीय टीम में वापसी के मजबूत दावेदार नहीं हैं लेकिन उन्होंने अब भी उम्मीद नहीं छोड़ी है। उन्होंने कहा, ‘मैं वास्तव में चयन को लेकर बात नहीं कर सकता। मेरे पास सर्वश्रेष्ठ मौका क्या हैं। दलीप ट्रोफी, रणजी वनडे और अन्य मैच जो भी मुझे खेलने को मिलेंगे। जैसे मैंने कहा कि अगर मैं टीम में जगह बनाता हूं तो यह बहुत बड़ी बात होगी। वापसी करके भारत की तरफ से फिर से विश्व कप में खेलना शानदार होगा। यदि ऐसा नहीं होता है तो भी जिंदगी चलती रहेगी। इसे स्वीकार करना मुश्किल होगा लेकिन मुझे इसे स्वीकार करना पड़ेगा।‘


Check Also

उत्तर प्रदेश में निकली असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर भर्ती, तुरंत करें आवेदन

यूपी उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने प्रदेश के तमाम कॉलेजों में अलग-अलग विभागों में सहायक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *