Home >> Breaking News >> “मन की बात” का होने लगा असर: पीएम

“मन की बात” का होने लगा असर: पीएम


Mann ki Baat

नई दिल्ली,(एजेंसी) 02 नवम्बर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो प्रोग्राम “मन की बात” में रविवार को एक बार फिर सोशल रिफॉर्म्स पर फोकस किया। उन्होंने सुझाव देने वाले दो लोगों के नाम लेते हुए देश को यह संदेश पहुंचाने की भी कोशिश की कि वह लोगों के सुझाव को कितनी गंभीरता से लेते हैं। उन्होंने जताया कि मेरी कही बात भी लोग मानते हैं और उस पर अमल हो रहा है। रेडियो के जरिए मोदी ने दूसरी बार देश को संबोधित किया और आगे भी इसे जारी रखने का वादा किया।

रकारें भी बदलें अपनी सोच
मोदी ने इस बार भी सोच बदलने पर जोर दिया। उन्होंने हौसलाफजाई करते हुए लोगों से कहा कि ष्कभी.कभी तो मुझे लगता है कि देश बहुत आगे हैए सरकारें बहुत पीछे हैं और मैं अनुभव से कहता हूं कि शायद सरकारों को भी अपनी सोच बदलने की जरूरत है।

खादी की बढ़ी बिक्री लोगों ने मानी बात
मोदी ने कहा कि मैंने पिछली बार खादीधारी बनने को कहा तो एक हफ्ते में खादी की बिक्री में करीब 125 पर्सेंट की वृद्धि हो गई। पिछले साल की तुलना में 2 अक्टूबर से एक हफ्ते में दुगुना से भी ज्यादा खादी की बिक्री हुई।
क्लीन इंडिया कैंपेन में बच्चे
मोदी ने कहा कि क्लीन इंडिया कैंपेन ने जन आंदोलन का रूप ले लिया है। नगरपालिकाएं चुनौतियों के लिए तैयार रहें। छोटे बच्चों पर सफाई का सबसे ज्यादा असर पड़ा है। सैकड़ों परिवार इस बात की चर्चा करते हैं कि हमारा बच्चा कहीं चॉकलेट खाता हैए तो अब कागज तुरंत उठा लेता है।
अफसरों की सराहना
उन्होंने एचआरडी मिनिस्ट्री के अधिकारियों की तारीफ की और कहा कि जब मैंने स्पेशली एबल्ड बच्चों की बात कीए तो मिनिस्ट्री के अधिकारियों ने मिलकर एक योजना बनाई। एक हजार स्पेशली.एबल्ड चाइल्ड को स्पेशल स्कॉलरशिप देने की योजना बनाई है। सभी केंद्रीय विद्यालयों और सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में इनके लिए अलग इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए स्कूल व कॉलेजों को अलग से 1.1 लाख रुपये देना तय किया है।

समाजसेवा को तवज्जो
मोदी ने कहा कि अब लोग स्वार्थ की बातें कम और समाज सेवा की ज्यादा कर रहे हैं। उन्होंने सरकारी अधिकारियों से लेकर कॉरपोरेट वर्ल्ड के लोगों तक का जिक्र करते हुए कहा कि अब वे मेरे पास आते हैंए तो स्वार्थ की बातें कम करते हैं। समाज से जुड़ी कुछ न कुछ जिम्मेदारियां लेने की बात ज्यादा करते हैं।

भरत का मेलए अभिषेक की चिट्ठी
प्रधानमंत्री ने लोगों के भेजे अनुभव भी शेयर किए। मध्य प्रदेश के सतना से भरत गुप्ता ने मेल के जरिए यात्रा के दौरान रेलवे की सफाई व्यवस्था पर अपना अनुभव बताया। मोदी ने एक अन्य शख्स अभिषेक पारिख की चिट्ठी का जिक्र किया। अभिषेक ने कहा कि मैंने युवा पीढ़ी में बढ़ रही नशे की लत और ड्रग की ओर उनके खिंचाव पर चिंता जताई। मोदी ने भी इसे गंभीर संकट बताया। उन्होंने कहा कि अगली बार वह इस मसले पर विस्तार से बात करेंगे। साथ ही वह लोगों से इस फील्ड में काम कर रहे एक्टिविस्ट्स से निपटने के सुझाव भी मांगेंगे।


Check Also

बीजेपी ही बंगाल में अगली सरकार बनाएगी नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी कम से कम पचास हजार वोटों से जीतेंगे : कैलाश विजयवर्गीय

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी आज फिर बंगाल दौरे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *