Home >> Breaking News >> मोदी करेंगे मंत्रिमंडल का विस्तार, पर्रिकर बन सकते हैं रक्षा मंत्री

मोदी करेंगे मंत्रिमंडल का विस्तार, पर्रिकर बन सकते हैं रक्षा मंत्री


Manohar Parikaer

नई दिल्ली,(एजेंसी) 06 नवम्बर । मोदी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार सोमवार तक हो जाने की संभावना है। राष्ट्रपति के कार्यक्रम को देखते हुए रविवार या सोमवार को नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह हो सकता है। इस विस्तार में गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के केंद्र में आने की संभावना काफी मजबूत है। उन्हें रक्षा मंत्री बनाए जाने की खबर आ रही है।

मनोहर पर्रिकर के अलावा हरियाणा के जाट नेता बीरेंद्र सिंह को भी मंत्री बनाया जा सकता है। वह असेंबली चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए थे। इसके अलावा मंत्रिमंडल के लिए महाराष्ट्र से हंसराज अहीरए बिहार से गिरिराज सिंह और झारखंड से जयंत सिंहा का नाम भी तय माना जा रहा है। सुरेश प्रभु के भी मंत्रिमंडल में आने के संकेत हैं। पश्चिम बंगाल से भी किसी को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक विस्तार में 9 से 10 नाम मंत्रिमंडल में शामिल किए जा सकते हैं।

रक्षा या टेलिकॉम मंत्री बन सकते हैं पर्रिकर
पर्रिकर ने अटकलों के बीच बुधवार शाम को दिल्ली में पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और फिर पीएम मोदी से मुलाकात की। हालांकि मोदी से मुलाकात के बाद पर्रिकर ने कैबिनेट में शामिल होने की अटकलों को खारिज किया। पर्रिकर ने कहा कि पीएम मोदी ने उनसे कैबिनेट में शामिल होने को लेकर बातचीत नहीं की। बैठक में सिर्फ गोवा पर बातचीत हुई। इस बीचए पर्रिकर के केंद्र में आने पर गोवा बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र आर्लेकर का नाम नए सीएम के लिए सबसे आगे चल रहा है। वह गोवा बीजेपी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

मनोहर पर्रिकर ने की मोदी से मुलाकातए बनेंगे रक्षा मंत्री
सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ईमानदार छवि के मनोहर पर्रिकर को रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी देना चाहते हैं। अभी अरुण जेटली वित्त के साथ रक्षा जैसे दो बड़े मंत्रालय संभाल रहे हैं। अगर पर्रिकर को रक्षा मंत्रालय नहीं दिया गया तो उन्हें टेलिकॉम मंत्रालय सौंपा जा सकता है। रविशंकर प्रसाद अभी कानून और टेलिकॉम दोनों मंत्रालय संभाल रहे हैं।

जाटों को साधने की कोशिश
बीरेंद्र सिंह को कैबिनेट में जगह देकर बीजेपी जाटों को खुश कर सकती है। बीजेपी ने हरियाणा में अपनी पहली सरकार के लिए एक पंजाबी सीएम मनोहर लाल खट्टर को चुनाए ऐसे में उसके लिए जाटों के बीच संदेश देना जरूरी है। बीरेंद्र सिंह के कैबिनेट में आने से पार्टी को आगामी दिल्ली चुनावों में भी जाटों को रिझाने में मदद मिलेगी।

देर से पर दुरुस्त आएंगे गिरिराज सिंह
बिहार से सांसद गिरिराज सिंह का नाम शुरू में ही मोदी कैबिनेट के लिए तय माना जा रहा था लेकिन अपने वादित बयानों के कारण उन्हें यह मौका नहीं मिला। गिरिराज भूमिहारों के नेता के रूप में जाने जाते हैं जिन्होंने लोकसभा चुनाव में बीजेपी का साथ दिया था। बिहार में जातीय समीकरण साधने के लिए उन्हें कैबिनेट में जगह दी जा सकती है।

अहीर को मिलेगा ष्कोलगेट का इनाम
महाराष्ट्र से सांसद हंसराज अहीर को लो.प्रोफाइल एमपी के रूप में जाना जाता है, लेकिन संसदीय कमिटी से सदस्य के रूप में कोयला घोटाले को सामने लाने में उनकी विशेष भूमिका रही थी। ईमानदार छवि वाले अहीर को कड़ी मेहनत का नतीजा मिल सकता है।

बाप के नक्श-ए-कदम पर जयंत
पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिंहा के बेटे और झारखंड के हजारीबाग से एमपी जयंत सिंहा को वित्त या कॉमर्स से जुड़े मंत्रालय में भूमिका मिल सकती है। हॉर्वर्ड से एमबीए जयंत का नाम बजट पर चर्चा के दौरान उनके पहले संसदीय भाषण के बाद से ही इस जिम्मेदारी के लिए लिया जाता रहा है।

पश्चिम बंगाल को मिलेगा प्रतिनिधित्व
सूत्रों के मुताबिक ,बीजेपी कैबिनेट में पश्चिम बंगाल से भी किसी को शामिल करना चाहती है। हालांकि कहा जा रहा है कि इसके लिए पार्टी मौजूदा लोगों के बजाय किसी नए चेहरे को आगे करेगी। इसके लिए राज्यसभा चुनाव का सहारा लिया जाएगा।
सूत्रों के अनुसार बंगाल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की प्रायॉरिटी में काफी ऊपर है। बीजेपी राज्यसभा में चार सीटें जीतने की उम्मीद कर रही है। इनमें दो हरियाणा से हैं, जहां एक सीट बीरेंद्र सिंह को मिलनी तय है, जबकि एक-एक यूपी और झारखंड से है। मोदी अगले दो दिन अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर जा रहे हैं लेकिन संभावना है कि वह इससे पहले मंत्रिमंडल विस्तार की इच्छा से राष्ट्रपति को अवगत करा देंगे।


Check Also

ठण्ड का सितम दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना : मौसम विभाग

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *