Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> ममता ने वित्तीय पैकेज की खातिर फिक्की की मदद मांगी

ममता ने वित्तीय पैकेज की खातिर फिक्की की मदद मांगी


Mamta Banergy

कोलकाता।,(एजेंसी) 07 नवम्बर । पिछली यूपीए-दो सरकार और मौजूदा एनडीए सरकार के दौरान केंद्र से वित्तीय पैकेज हासिल करने की नाकाम कोशिशों के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य की इस मांग की वकालत के लिए औद्योगिक संस्था फेडरेशन ऑफ इंडियन चेंबर ऑफ कॉमर्स ऐंड इंडस्ट्री,फिक्की का रूख किया है ।

फिक्की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद में ममता ने कहाए करीब साढ़े तीन साल पहले सत्ता में आने के बाद हमें राजनीतिक आजादी तो मिली है पर आर्थिक आजादी नहीं मिली। लिहाजा मैं आपसे गुजारिश करती हूं, कृपया आप की अपनी आवाज केंद्र के सामने बुलंद करें ।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने 35 सालों के वाम दलों के शासनकाल के बाद पहली बार वित्तीय जिम्मेदारी एवं बजट प्रबंधन ,एफआरबीएम कानून लागू किया था ताकि राज्य के वित्त को अनुशासित किया जा सके ।
ममता ने कहा, पहले की सरकार वाम मोर्चा ने ऐसा नहीं किया। पर उसके बजाय केंद्र सरकारी खजाने से उस विरासत से धन लेता रहा जो हमें मिली है ।

उन्होंने कहा यदि कोई गलती करता है तो इसकी सजा हमें क्यों मिले , इससे राज्य के विकास पर चैतरफा असर पड़ रहा है । ममता ने कहा कि पश्चिम बंगाल की तुलना अन्य राज्यों से नहीं की जा सकती और सभी बाधाओं के बावजूद पिछले तीन साल में राजस्व 21.000 करोड़ रूपए से बढ़कर 40.000 करोड़ रू हो गया है।
मुख्यमंत्री ने कहाए पर राज्य के खजाने में राजस्व रखने के मामले में यह नकारात्मक है क्योंकि केंद्र तुरंत धन ले लेता है।


Check Also

तमिलनाडु और पुडुचेरी में तूफान का खतरा, भारी तबाही मचा सकता है ‘निवार’ NDRF की 12 टीमें तैनात

बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान में बदल गया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *