Home >> Breaking News >> सरिता का समर्थन करे सरकार: तेंडुलकर

सरिता का समर्थन करे सरकार: तेंडुलकर


Sachin With Sarita devi

मुंबई ,(एजेंसी) 19 नवम्बर । सचिन तेंदुलकर ने अस्थायी रुप से निलंबित चल रहीं बॉक्सर सरिता देवी के समर्थन में आवाज उठाई है। सचिन ने खेल मंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि सरकार को अनुभवी मुक्केबाज का साथ देना चाहिए ताकि उनका करियर बीच में ही समाप्त न हो। तेंडुलकर ने खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को 15 नवंबर को लिखे पत्र में कहा है कि वह इन रिपोर्टों से परेशान हैं कि सरिता पर प्रतिबंध लग सकता है जिससे उनका करियर खतरे में पड सकता है।

सचिन ने लिखा हैए ष्मैं आपसे आग्रह करता हूं कि कृपया तत्काल इस मामले पर गौर करें और यह सुनिश्चित करें कि उन्हें भरपूर समर्थन मिले ताकि उनका करियर खतरे में न पड़े और बीच में ही खत्म न हो जाए।ष् सरिता को दक्षिण कोरिया के इंचन में हुए एशियन गेम्स में महिलाओं के 60 किग्रा के सेमी फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने मेडल सेरिमनी में विरोध स्वरुप अपना मेडल नहीं लिया था और विजेता घोषित की गईं खिलाड़ी को देने की कोशिश की थी। वह अपने मुकाबले के विवादास्पद फैसले से निराश थीं और उन्होंने मेडल पहनने के लिए अपनी गर्दन नीचे नहीं की थी। इसके बाद उन्होंने मेडल लिया और उसे अपनी साथी खिलाड़ी पार्क जिना के गले में डाल दिया था। हालांकिए बाद में सरिता ने अपने व्यवहार के लिए माफी मांग ली थी और मेडल भी ले लिया था।

तेंडुलकर ने कहा है कि खिलाड़ी होने के कारण वह सरिता की भावनाओं को समझ सकते हैं। उन्होंने लिखा है, ष्खिलाड़ी होने के कारण मैं समझ सकता हूं कि देवी किस भावनात्मक उथल पुथल से गुजरी होंगी जिसके कारण यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई। इसके बाद उन्होंने खेद जताया और वह अपना करियर जारी रखने के लिए एक और मौके की हकदार हैं।

तेंडुलकर ने कहा कि मणिपुर की इस मुक्केबाज को उच्च स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग लेने की अनुमति मिलनी चाहिए क्योंकि उन्होंने अपने व्यवहार के लिए पहले ही माफी मांग ली है। उन्होंने लिखा है, आपको पता होगा कि उन्होंने अपने खेल भावना के विपरीत किए गए व्यवहार के लिए माफी मांग ली है। एक देश के रुप में हमें इसके लिए अपनी तरफ से हर तरह के प्रयास करने चाहिए कि देवी को माफ किया जाए और उन्हें उच्च स्तर पर मुक्केबाजी का अपना कौशल दिखाने की अनुमति मिले।

तेंडुलकर ने सोनोवाल से आइबा के सामने सरिता का मामला रखने के लिए भारतीय ओलिंपिक संघ और मुक्केबाजी महासंघ के सीनियर अधिकारियों की टास्क फोर्स गठित करने पर विचार करने का आग्रह किया। उन्होंने लिखा हैए ष्वर्तमान प्रक्रिया की सीमित जानकारी होने के कारण मैं आपकी अगुवाई में भारतीय ओलिंपिक संघए भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के कानूनी जानकारी रखने वाले सीनियर अधिकारियों की टास्क फोर्स गठित करने का आग्रह करता हूं।

इस दिग्गज बल्लेबाज ने कहाए ष्इस टास्क फोर्स का उद्देश्य देवी के बचाव में उचित तर्क पेश करके मुक्केबाजी की सर्वोच्च संस्था द्वारा उनके करियर को किसी तरह के नुकसान पहुंचाने के संभावित प्रयास को रोकना होना चाहिए। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि देवी उन खिलाडि़यों में शामिल हैं जो देश का प्रतिनिधित्व करने में गर्व महसूस करते हैं और भारत सहित विभिन्न सहयोगियों से हर तरह के समर्थन का हकदार हैं।

तेंडुलकर ने मंत्री से जरुरी कदम उठाने का आग्रह किया। उन्होंने कहाए ष्मुझे पूरा विश्वास है कि आप इस मामले पर गौर करके तुरंत कोई कार्रवाई करोगे।


Check Also

24 दिसंबर को होने वाली BCCI की 89वीं AGM की सालाना बैठक में सारी दुनिया की निगाहे

बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया की 89वीं एजीएम में सारी दुनिया की निगाह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *