Home >> कुछ हट के >> लखनऊ में हाई प्रोफाइल शादी में युवती ने किया हंगामा

लखनऊ में हाई प्रोफाइल शादी में युवती ने किया हंगामा


Marrige

लखनऊ,(एजेंसी) 01 दिसंबर । लखनऊ में रविवार रात को एक हाई प्रोफाइल शादी में जमकर हंगामा हुआ। शादी में पहुंची एक युवती ने दूल्हे पर आरोप लगाते हुए उसे अपना पति बताया और पुलिस से शादी रुकवाने को कहा। इसके बाद पुलिस ने पीड़ित लड़की के साथ शादी समारोह वाले होटल में जाने की कोशिश की। मौके पर मौजूद होटल के सुरक्षाकर्मियों और बारातियों ने पुलिस और पीड़ित लड़की की पिटाई कर दी। बाद में पुलिस ने होटल के एक सुरक्षाकर्मी को हिरासत में ले लिया।

लखनऊ में रविवार रात एक आलिशान होटल में एक हाई प्रोफाइल शादी में ड्रामा भी हुआ और एक्शन भी। दरअसल, लखनऊ के गोमतीनगर निवासी एक बड़े व्यवसाई के लड़के अभिषेक त्रिपाठी की शादी हजरतगंज के एक होटल में होनी थी। बारात भी होटल पहुंच गई थी और बाराती भी, लेकिन इसी बीच वहां एक युवती पहुंची और वह अभिषेक को अपना पति बताते हुए हंगामा करने लगी। लड़की का कहना था कि उसकी शादी अभिषेक से 25 मई को मंदिर में हो चुकी है। उसने पुलिस में अभिषेक के खिलाफ शिकायत भी की थी।

इसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची और उसने पीड़ित लड़की से बात की। लड़की के मुताबिक, उसने अभिषेक के खिलाफ पहले ही मुकदमा दर्ज कराया था, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की।

पीड़ि‍त लड़की प्रीति (बदला हुआ नाम) ने कहा, ‘1 साल से हमारा रिलेशन चल रहा था। उसने कहा कि हम शादी के लिए तुम्हारे घरवालों को मना लेंगे। हमारी शादी 25 मई को मंदिर में हुई थी। मैंने महिला थाने में एफआईआर की थी। मैं शादी रोकने आई थी, लेकिन बाउंसर ने धक्का मारकर बाहर कर दिया। पुलिस ने कुछ नहीं किया।’

इसके बाद लड़की ने काफी हंगामा किया और पुलिस को शादी रुकवाने के लिए कहा। पुलिस ने होटल में प्रवेश करने की कोशिश की, जिसके बाद होटल के सुरक्षाकर्मियों और बारातियों ने पुलिसकर्मियों के साथ ही मारपीट करना शुरू कर दिया। बाद में पुलिस ने हालात पर काबू पाया और होटल के कुछ गार्ड को हिरासत में लिया। जब पुलिस से पूरे मामले के बारे में पूछा गया, तो वह गोलमोल जवाब देती नजर आई।

इसके बाद पुलिस लड़के को हिरासत में लेती, उसके पहले ही दूल्हा और दुल्हन फरार हो गए। अब पुलिस पूरे मामले की जांच करने की बात कह रही है।


Check Also

उधर पीलीभीत के सीएमओ को बचाया इधर आगरा के पारस अस्पताल को बचाया

अजब न्याय की गजब परिभाषा की बयार चल पड़ी है, शासन को यही नहीं पता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *