Home >> Breaking News >> हाशिम अंसारी का मुकदमे से हटना एक गंभीर मामला: मुलायम

हाशिम अंसारी का मुकदमे से हटना एक गंभीर मामला: मुलायम


Mulayam singh

नई दिल्ली ,(एजेंसी) 06 दिसंबर । समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कहा कि बाबरी मस्जिद केस के सबसे पुराने पक्षकार हाशिम अंसारी का मुकदमे से हटना एक गंभीर मामला है। वह हाशिम से बात करेंगे।

आपको बता दें कि राम जन्म भूमि विवाद के स्थाई समाधान के लिए बाबरी मस्जिद केस के सबसे पुराने पक्षकार हाशिम अंसारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना चाहते हैं । दो दिन पहले हाशिम अंसारी ने कहा था कि वो मुकदमे से हट रहे हैं और रामलला को आजाद देखना चाहते हैं।

पीएम मोदी से मिलना चाहते हैं बाबरी मस्जिद केस के सबसे पुराने पक्षकार हाशिम अंसारी।

क्या है पूरा मामला:
अयोध्या बाबरी मस्जिद के मुख्य पक्षकार मोहम्मद हाशिम अंसारी बाबरी मस्जिद मुद्दे के राजनीतिकरण से इतने नाराज है कि उन्होंने बाबरी मस्जिद के मुक़दमे की पैरवी ना करने का फैसला किया है ।

विवादित जमीन के मालिकाना हक के मुकदमे में सबसे पुराने वादियों में एक हाशिम अंसारी ने ये भी कहा कि वो अब रामलला को आजाद देखना चाहते हैं। उनका कहना है, ‘चाहे हिंदू नेता हों या मुस्लिम सब अपनी अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने में लगे हैं और मैं कचहरी के चक्कर लगा रहा हूं। ‘

उन्होंने कहा वह किसी भी कीमत पर अब बाबरी मस्जिद मुक़दमे की पैरवी नहीं करेंगे इसीलिये वह 6 दिसम्बर को काला दिवस जैसे किसी भी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे।

यही नहीं हाशिम अंसारी ने आगे कहा, “रामलला त्रिपाल में रहे, और अब मैं रामलला को किसी भी कीमत पर त्रिपाल में रहते हुए नहीं देखना चाहता। लोग महलों में रहें और रामलला टेंट में रहे, लोग लड्डू खांए और रामलला इलायची दाना। यह नहीं हो सकता। मैं अब किसी भी कीमत पर रामलाला को आजाद देखना चाहता हूं।”

अयोध्या के हाशिम अंसारी विवादित भूमि के मालिक़ाना हक़ का मुकदमा लड़ते-लड़ते 97 साल के हो चुके हैं। अयोध्या बाबरी मस्जिद मुक़दमा 1949 से चल रहा है।


Check Also

राज्य सरकारें स्कूल खोलने की दिशा में फूंक-फूंक कर बढ़ाएंगी कदम, जानें किस राज्य का अब तक क्या फैसला

देश में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले हर दिन घट रही है तो इस बात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *