Home >> Breaking News >> उबेर कैब रेप मामला: आरोपी ड्राइवर की हिरासत का आज अंतिम दिन

उबेर कैब रेप मामला: आरोपी ड्राइवर की हिरासत का आज अंतिम दिन


नई दिल्ली,(एजेंसी)10 दिसंबर । गुड़गांव की एक निजी कंपनी में काम करने वाली 27 साल की एक युवती से बलात्कार के आरोपी ‘उबर’ कैब के ड्राइवर शिव कुमार यादव की न्यायिक हिरासत की अवधि आज खत्म हो रही है। आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Uber Cab

इस बीच बलात्कार की एक घटना पर मचे हंगामे के बाद अमेरिकी कैब बुकिंग कंपनी ‘उबर’ ने आखिरकार राष्ट्रीय राजधानी में अपनी सेवाएं बंद कर दी । दिल्ली सरकार द्वारा ‘उबर’ की टैक्सी सेवाओं पर पाबंदी लगाने के तीन दिन बाद कंपनी ने यह कदम उठाया है ।

‘उबर’ द्वारा अपनी सेवाएं राष्ट्रीय राजधानी में बंद करने से पहले दिल्ली सरकार और यातायात पुलिस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया था । ‘उबर’ पर लगी पाबंदी को लागू कराने की जिम्मेदारी दोनों एक-दूसरे पर डाल रहे थे ।

दिल्ली सरकार ने सोमवार को ‘उबर’ पर तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगा दी थी लेकिन इस ऐप आधारित टैक्सी सेवा ने कल देर शाम तक अपनी सेवाएं जारी रखीं । कंपनी का दावा था कि उसे कार्रवाई के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है ।

पुलिस ने कहा कि कंपनी पर पाबंदी लगाने संबंधी दिल्ली सरकार का आदेश कल शाम उसके अधिकारियों को हाथोंहाथ दे दिया गया था ।

दिल्ली सरकार ने सोमवार को ‘उबर’ एवं अन्य ऐप आधारित टैक्सी सेवाओं पर तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगाई थी । ‘उबर’ के एक कैब ड्राइवर द्वारा गुड़गांव की एक निजी कंपनी में काम करने वाली 27 साल की युवती से कथित बलात्कार का मामला सामने आने के बाद यह पाबंदी लगाई गयी थी । दिल्ली पुलिस पहले ही ‘उबर’ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर चुकी है । उस पर अपने ग्राहकों से धोखाधड़ी और सरकारी आदेशों की अवमानना का आरोप है ।

पिछले दो दिनों में ‘उबर’ के कई अधिकारियों से पुलिस पूछताछ कर चुकी है । जिन अधिकारियों से पूछताछ हुई है उनमें ‘उबर’ एशिया-प्रशांत प्रमुख एरिक एलेक्जेंडर शामिल हैं । हांगकांग में तैनात एरिक को दिल्ली पुलिस ने जांच में शामिल होने की खातिर तलब किया था और उन्होंने पूछताछ में हिस्सा लिया था।


Check Also

दिल्ली कूच पर निकले भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत कई किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

करनाल में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत कई किसानों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *