Wednesday , 25 November 2020
Home >> In The News >> बेल्जियम को हराकर भारत सेमीफाइनल में, मुकाबला पाकिस्तान से

बेल्जियम को हराकर भारत सेमीफाइनल में, मुकाबला पाकिस्तान से


भुवनेश्वर,(एजेंसी)12 दिसंबर । दो गोल से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करते हुए भारत ने आज बेल्जियम को 4-2 से हराकर हीरो चैम्पियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उसका सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा।

India Hockey

पिछले मैच में नीदरलैंड को हराने वाली भारतीय टीम ने आज विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर पर काबिज बेल्जियम के खिलाफ उस लय को बरकरार रखा। खेल के 18वें मिनट में भारत दो गोल से पीछे था जब बेल्जियम के लिये फेलिक्स डेनायेर (12वां मिनट) और सेबेस्टियन डोकियेर (18वां) ने गोल दाग दिये।

इसके बाद दुनिया की नौवे नंबर की टीम भारत ने उसी मिनट रूपिंदर पाल सिंह (18वां) के गोल के दम पर वापसी की कवायद शुरू की।

एस के उथप्पा ने 27वें मिनट में बराबरी का गोल दागा जबकि आकाशदीप सिंह (41वां) और धरमवीर सिंह (49वां) ने गोल करके भारत को शानदार जीत दिलाई।

भारत का सामना शनिवार को दूसरे सेमीफाइनल में पाकिस्तान से होगा. वहीं विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया पहले सेमीफाइनल में जर्मनी से खेलेगा।

इस जीत के साथ भारत ने बेल्जियम से नीदरलैंड में इस साल हुए विश्व कप में मिली 2-3 से हार का बदला चुकता कर लिया। पहले क्वार्टर में बेल्जियम ने दबदबा बनाये रखा और शुरूआती दस मिनट में दो पेनल्टी कॉर्नर बनाये लेकिन भारतीय गोलकीपर पी आर श्रीजेश ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया।

दानिश मुज्तबा ने जवाबी हमले में गोल करने का मौका गंवाया और धरमवीर सिंह के पास पर उनकी हिट बेल्जियम के गोलकीपर विंसेंट वनाश के पास चली गई।

बेल्जियम के लिये तीसरे पेनल्टी कॉर्नर पर डेनायेर ने गोल दागा। दूसरे क्वार्टर में भारत की शुरूआत अच्छी नहीं रही और तीन मिनट के भीतर सेबेस्टियन ने गोल करके बेल्जियम की बढत दुगुनी कर दी।

दो गोल गंवाने के बाद स्टेडियम में कलिंगा जमा करीब 7000 भारतीय प्रशंसकों को मानों सांप सूंघ गया। भारतीय टीम ने हालांकि संयम नहीं खोया और वापसी करते हुए पहला पेनल्टी कॉर्नर बनाया। इसे रूपिंदर पाल सिंह ने गोल में बदला।

इसके कुछ मिनट बाद रमनदीप सिंह के शॉट को विंसेंट ने बचा लिया। धरमवीर के शॉट पर भी बेल्जियम गोलकीपर ने गोल नहीं होने दिया।

भारत के लिये बराबरी का गोल 27वें मिनट में उथप्पा ने किया। सर्कल के बाहर से वी आर रघुनाथ से मिले पास पर उन्होंने गेंद का रूख अपनी स्टिक से गोल की तरफ किया।

ब्रेक से कुछ सेकंड पहले बेल्जियम ने गोल करने का सुनहरा मौका गंवाया जब खाली पड़े भारतीय गोल के बावजूद टाम बून सही निशाना नहीं लगा सके। ब्रेक के बाद भारत ने हमले बोलना जारी रखा और उसका फल तीसरे गोल के रूप में मिला। एस वी सुनील के प्रयास को विंसेंट ने नाकाम कर दिया लेकिन आकाशदीप ने रिबाउंड पर गोल करके भारत को 3-2 से बढत दिलाई।

इसके बाद से भारतीयों ने जबर्दस्त आक्रामक खेल दिखाते हुए विरोधी गोल पर लगातार हमले बोले।

बेल्जियम को इस बीच एक और पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन इसे रघुनाथ ने कामयाब नहीं होने दिया।

भारत के लिये चौथा गोल धरमवीर ने कप्तान सरदार सिंह से मिले पास पर किया। बेल्जियम को आखिरी मिनटों में मिला पेनल्टी कार्नर बेकार गया।


Check Also

ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने कहा-हमारे व्यवहार में हुआ सुधार, अपशब्द का इस्तेमाल नहीं करेंगे

ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने कहा है कि भारत के खिलाफ सीरीज में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *