Home >> Breaking News >> पाकिस्तान में तीन दिनों का मातम, पढ़ें जा रहे हैं सामूहिक नमाज़े जनाज़ा

पाकिस्तान में तीन दिनों का मातम, पढ़ें जा रहे हैं सामूहिक नमाज़े जनाज़ा


Pakistan 1

पेशावर, नई दिल्ली (एजेंसी)17 दिसंबर । पाकिस्तान में मंगलवार को हुई कत्लेआम के बाद बुधवार को तीन दिनों के मातम की शुरुआत हो गई है। मंगलवार को तालिबान के आतंकवादियों ने अपने अब तक के सबसे खौफनाक हमले में 132 स्कूली बच्चों सहित 141 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। अब सारी दुनिया इस तकलीफ के समय पर पाकिस्तान के साथ खड़ी और सोगवार है।

दर्द की इस घड़ी ने मुल्क की सरहदों की दीवारों को तोड़ते हुए दुनिया के अनेक स्कूलों में बच्चों ने दो मिनट का मौन रखकर पाकिस्तान में मारे गए बच्चों के लिए अपनी हमदर्दी जताई और नम आंखों से उन्हें श्रद्धांजलि दी।

पाकिस्तान की उत्तर पश्चिमी राज्य रियासत खैबर पख्तूनखवा में राजधानी पेशावर सहित पूरे राज्य में स्कूल, कॉलेज, दफ्तर और बाज़ार बंद हैं।

सामूहिक नमाज़े जनाज़ा
तालिबान के कत्लेआम के बाद आज बुधवार को पेशावर में सामूहिक नमाज़े जनाज़ा अदा की जा रही हैं, हर गली और मुहल्ले से जनाज़े निकल रहे हैं, हर तरफ मातम का माहोल है।

भारत में भी मामत
पाकिस्तान के इस दुख की घड़ी में भारत ने भी अपनी सद्भाना जाहिर की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पेशावर की घटना को लेकर देशभर के स्कूलों से दो मिनट के मौन का आह्वान किया।

दिल्ली से आठ सौ किलोमीटर दूर पाकिस्तान के पेशावर में तालिबान द्वारा अंजाम दिए गए नरसंहार में आतंकियों ने आर्मी स्कूल में 132 बच्चों समेत 141 लोगों को मौत के घाट उतारा दिया। वहीं 960 बच्चों को सुरक्षित बचा लिया गया है। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता के मुताबिक आतंकी हमले में कुल 141 लोगों की मौत हुई है जिसमें 132 बच्चे और 9 कर्मचारी शामिल हैं। सेना के प्रवक्ता ने आगे बताया कि 7 आतंकियों को भी मार गिराया गया है।

पेशावर के इस आर्मी पबिल्क स्कूल में यह आतंकी हमला उस वक्त हुआ जब ग्यारहवीं और बारहवीं के छात्र परीक्षा दे रहे थे वहीं स्कूल में नौवीं और दसवीं के छात्रों की पार्टी चल रही थी। आतंकी पेशावर की बिहारी कॉलोनी के रास्ते आर्मी पब्लिक स्कूल में घुसे थे। बिहारी कॉलोनी पेशावर की सबसे बड़ी कॉलोनियों में से एक है। पेशावर में पाकिस्तानी सेना और एलीट कमांडो ने तुरंत ऑपरेशन शुरू कर करीब एक हजार बच्चों को तो बचा लिया, लेकिन सौ से ज्यादा बच्चों को अपनी जान गंवानी पड़ी।

Pakistan 2

पाकिस्तान के टीवी चैनलों की ख़बरों के मुताबिक स्कूल में घुसे आत्मघाती हमलावर ने खुद को स्कूल के भीतर बम से उड़ा लिया। स्कूल के अंदर धमाके की आवाज सुनी गई। पाकिस्तान के न्यूज़ चैनलों ने चश्मदीदों के हवाले से जो ख़बर दी है उसके मुताबिक आतंकी अरबी भाषा में बात कर रहे थे।

क्या पेशावर हमले के बाद अब पाकिस्तान की आर्मी तालिबान के खिलाफ सख्त होगी?

अस्पताल में दर्द ही दर्द
Pakistan 3

पेशावर के अस्पतालों में दिल दहलाने वाला मंजर हैं। बच्चों के शवों और ताबूत को देखकर लोग अपनी आंखों में आंसू नहीं रोक पा रहे हैं। पेशावर हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में अफरा-तफरी का माहौल है। पूरे देश में नवाज शरीफ सरकार और तालिबान के खिलाफ गुस्सा भरा हुआ है।

तालिबान का बयान
Pakistan 4
मुल्ला फजलुल्ला

समाचार एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तानी तालिबान ने पेशावर हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है कि सेना हमारे परिवार पर हमले करती है इसीलिए स्कूल में सैनिकों के बच्चों पर हमला करके बदला लिया गया। वहीं पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर का दावा है कि मलाला यूसुफजई को शांति का नोबेल पुरस्कार मिलना आतंकी हमले की एक बड़ी वजह है।

हमले पर आज सर्वदलीय बैठक
Pakistan 5
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ

पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है। यह सर्वदलीय बैठक आज दोपहर 12 बजे गवर्नर हाउस में होगी। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रमुख इमरान खान भी इस बैठक में हिस्सा लेंगे। आतंकी हमले में मासूम बच्चों की हत्या के बाद पाकिस्तान में 3 दिन के राष्ट्रीय शोक का एलान किया गया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने घटना को राष्ट्रीय त्रासदी करार दिया है।

Pakistan 6
हमले की चौतरफा निंदा

पाकिस्तानी में तालिबान द्वारा धर्म के नाम पर किए गए इस अधर्म की दुनिया भर में निंदा हो रही है। दारुल उलूम देवबंद ने कहा कि ऐसा हमला इस्लाम के खिलाफ है। दारुल उलूम देवबंद ने अपने एक बयान में कहा, “इस्लाम किसी पर भी हमले की इजाजत नहीं देता।” पाकिस्तान मूल की नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने भी घटना की निंदा की है। मलाला ने कहा कि हम कभी हार नहीं मानेंगे।

वहीं भारत के नोबेल शांति पुरस्कार विजेता और बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी ने भी घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि बच्चों को मारना सबसे बड़ी कायरता है। भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। पाकिस्तान में हुए इस आतंकी हमले के बाद पीएम मोदी ने पाकिस्तान के पीएम शरीफ से फोन पर बात कर हमले पर दुख जताया। भारतीय पीएम ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ने में पाक को हर संभव मदद का वादा किया।

पीएम मोदी ने देश के सभी स्कूलों से पाकिस्तान में हुए आतंकी हमले को लेकर 2 मिनट का मौन रखने की अपील की है। मासूमों की हत्या की कई राजनीतिक दलों ने निंदा की है और इसे एक कायरता पूर्ण हमला बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने हमले की निंदा करते हुए इसे घिनौनी कार्रवाई कहा है। वहीं पाकिस्तान के पेशावर में हुए हमले की ऑस्ट्रेलिया के पीएम टोनी एबट ने भी निंदा की।

Pakistan 8
दिल्ली में बढ़ी स्कूलों की सुरक्षा
दिल्ली पुलिस ने शहर की महत्वपूर्ण इमारतों के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी है। स्कूल और कॉलेजों की सुरक्षा की भी समीक्षा की गई है। पेशावर के आर्मी स्कूल में हुए इस आतंकी हमले के बाद केंद्र सरकार देश में स्कूलों की सुरक्षा के लिए जल्द ही दिशा-निर्देश जारी करेगी। पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया में आतंकी घटना के बाद मुंबई में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। शहर के सभी महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।


Check Also

अमेरिकी राज्य कोलोराडो में हुई गोलीबारी, 3 लोगों की मौके पर हुई मौत

वाशिंगटन: अमेरिकी राज्य कोलोराडो में गोलीबारी में कम से कम तीन लोगों की मौत हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *