Home >> Breaking News >> उन्होंने मुझे बिगड़ैल लड़का कहा, इससे मुझे फायदा हुआ: कोहली

उन्होंने मुझे बिगड़ैल लड़का कहा, इससे मुझे फायदा हुआ: कोहली


मेलबर्न ,(एजेंसी) 28 दिसंबर । मैदान पर विरोधी खिलाड़ियों से भिड़ने से कभी नहीं चूकने वाले भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली ने आज कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने उन्हें ‘बिगड़ैल लड़का’ कहा जिससे वह तीसरे टेस्ट मैच में अपने करियर की अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने के लिये प्रेरित हुए। कोहली ने 169 रन बनाये जिससे भारत तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक आठ विकेट पर 462 रन बनाने में सफल रहा।
kohli_johnson

उन्होंने दिन का खेल समाप्त होने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘पूरे दिन भर ऐसा चलता रहा। वे मुझे बिगड़ैल लड़का कहते रहे और मैंने कहा कि ‘मैं ऐसा हो सकता हूं। तुम मुझसे घृणा करो और मुझे यह पसंद है। ’ मुझे मैदान पर बात करने से परहेज नहीं है और मुझे लगता है कि इससे मुझे फायदा होता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना पसंद है क्योंकि उनके लिये चुप रहना बहुत मुश्किल होता है और मुझे मैदान पर बहस करने से परहेज नहीं है। इससे वास्तव में मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिये प्रोत्साहित हुआ। इसलिए लगता है कि उन्हें सबक नहीं मिला है। ’’

दिन की सबसे नाटकीय घटना कोहली की मिशेल जॉनसन के साथ शाब्दिक जंग रही यह घटना तब घटी जब जॉनसन ने रन आउट करने के प्रयास में कोहली पर गेंद मार दी थी। कोहली ने जॉनसन के बारे में कहा, ‘‘ब्रिस्बेन में वह बिना दबाव के बल्लेबाजी कर रहा था क्योंकि यह उसका काम नहीं है। उसका काम विकेट लेना है और उसने आज प्रति ओवर 4.7 रन दिये. वह विकेट हासिल नहीं कर पा रहा था और मैं उसको निशाना बनाता रहा। भले ही इस बीच मैं उससे बात कर रहा था।’’

kohli_rahane
अंजिक्य रहाणे (147) के साथ चौथे विकेट के लिये 262 रन जोड़ने वाले कोहली ने कहा, ‘‘उन्हें बोलने का हक है। वह श्रृंखला में अभी 2-0 से आगे हैं। यदि यह 1-1 से बराबर होती तो अधिक दिलचस्प होती और उनकी तरफ से इसी तरह के शब्दबाण छोड़े जाते। जब आप बेहतर स्थिति में होते तो आप जो चाहो कह सकते हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब आप बैकफुट पर होते तो ऐसा नहीं होता। जब हम भारत में (2012-13) खेल रहे थे तब वे ज्यादा नहीं बोलते थे। हम भले ही 2-0 से पीछे हैं लेकिन अब भी हमने उन्हें चुनौती दी। हमने उन्हें दिखाया कि हम बल्ले से क्या कर सकते हैं। यह भारतीय क्रिकेट टीम का जज्बा है। ’’

कोहली से पूछा गया कि क्या वह ऑस्ट्रेलियाई टीम का सम्मान करते हैं, उन्होंने कहा, ‘‘मेरी उनमें से कुछ के साथ बहुत अच्छी दोस्ती है। मैं उनमें से कुछ का सम्मान करता हूं लेकिन जो मेरा सम्मान नहीं करता तो फिर मैं उसका सम्मान क्यों करूं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘एडिलेड में भी उन्होंने ताने कसे। वहां उन्होंने कहा कि मेरा सम्मान करने की जरूरत नहीं है। मैंने कहा कि इसकी जरूरत भी नहीं है। मैं यहां क्रिकेट खेलने के लिये आया हूं किसी का सम्मान हासिल करने के लिये नहीं। जब तक मैं रन बना रहा हूं मैं इससे खुश हूं। ’’

कोहली ने कहा कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चुनौती स्वीकार करना पसंद है और तीसरे दिन के खेल से संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आज हमने जिस तरह का खेल दिखाया उससे मैं बहुत खुश हूं और हम दिन भर अपना हौसला बढ़ाते रहे। मैं कतई निराश नहीं हूं। यहां आने से पहले मैंने खुद से कहा था कि मुझे सकारात्मक बने रहना है। मुझे ऐसा कोई कारण नजर नहीं आता जिससे मैं वनडे से टेस्ट क्रिकेट में अपने खेल में बदलाव करूं क्योंकि कई बार हम बहुत अधिक सोचने लग जाते हैं और अपना नैसर्गिक खेल खेलना भूल जाते हैं। ’’ कोहली ने कहा, ‘‘आपने आज अजिंक्य रहाणे को देखा होगा। उसने मुझसे पहले शतक पूरा किया और वह शानदार था। इसका कोई मतलब नहीं बनता था कि मैं उससे कहूं कि वह अपना नैसर्गिक खेल नहीं खेले और बल्लेबाजी इकाई के रूप में इसका हमें फायदा मिला। ’’

अपने शतक के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘मेरी आलोचना होती रही है कि मैं बड़ा शतक नहीं बना पाता। इतनी कड़ी मेहनत के बाद 115 या 120 रन पर आउट होना निराशाजनक होता है और यह वह समय होता है जबकि मैं खुद से कहता हूं कि कुछ समय और क्रीज पर बिताओ। आज मैं बड़ा शतक बनाकर खुश हूं। रहाणे ने भी ऐसा किया और यह टीम के लिये अच्छा रहा। ’’

कोहली ने कहा कि टीम चौथे दिन सुबह 500 रन तक पहुंचने की कोशिश करेगी. उन्होंने कहा, ‘‘यदि मैं टिका रहता तो अच्छा रहता लेकिन मोहम्मद शमी अच्छा खेल रहा है और उमेश यादव भी बड़े शॉट खेल सकता है। हम 500 रन के करीब पहुंचने की कोशिश करेंगे और उसके बाद यदि हम दो या तीन विकेट जल्दी हासिल कर लेते तो यह मैच रोमांचक बन जाएगा। ’’


Check Also

अजिंक्य रहाणे 49 रन बनाकर हुए आउट, भारत ने छठा विकेट गंवाया

आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथैंप्टन में खेला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *