Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> सैफई महोत्सव पर दिखा बदली राजनीति का असर

सैफई महोत्सव पर दिखा बदली राजनीति का असर


images
लखनऊ,(एजेंसी) 2 जनवरी । लोकसभा चुनाव के बाद न केवल उत्तर प्रदेश का सियासी मिजाज बदला है, बल्कि राज्य में सरकार चला रही समाजवादी पार्टी (एसपी) की प्राथमिकताओं में भी बदलाव आया है। मुलायम सिंह यादव के गृह क्षेत्र में होने वाले सैफई महोत्सव को देखकर इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। पिछले साल सैफई महोत्सव ग्लैमर की वजह से सुर्खियों में था, जबकि इस बार इसका आयोजन बेहद साधारण तरीके से किया जा रहा है।

पिछली बार सैफई महोत्सव में पूरा बॉलीवुड उमड़ पड़ा था और इस कारण मुलायम सिंह की काफी किरकिरी हुई थी। पिछले साल सैफई महोत्सव मुजफ्फरनगर दंगों की वजह से विवाद का मुद्दा बना था और पार्टी की चौतरफा निंदा हुई थी। एक तरफ जहां दंगा पीड़ित सर्दियों में ठिठुर रहे थे, वहीं पूरा सरकारी अमला सैफई महोत्सव का लुत्फ उठा रहा था।

मुलायम सिंह यादव के गृह जिले इटावा में चल रहे 14 दिनों के इस कार्यक्रम में इस बार इंडियन प्रीमियर लीग की तर्ज पर इंडियन ग्रामीण क्रिकेट लीग टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है। वहीं, महिलाओं के सशक्तीकरण को ध्यान में रखते हुए कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। एसपी इस बार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को आगे बढ़ाने में जुटी हुई है।

इस बार पार्टी अपनी धर्मनिरपेक्ष छवि को भी चमकाने की कोशिश कर रही है। पिछले आम चुनावों में एसपी को सांप्रदायिक ध्रुवीकरण से काफी नुकसान उठाना पड़ा था। कार्यक्रम की शुरुआत 26 दिसंबर को हनुमान मूर्ति की स्थापना के साथ हुई और अगले दिन हंसराज हंस ने देवी जागरण में भाग लिया। पिछले साल महोत्सव की शुरुआत ऐसे समय में हुई थी, जब प्रशासन ने दंगा पीड़ितों के शिविरों को बंद करने का फैसला किया था। राहत शिविरों में रह रहे दंगा पीड़ितों ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया था।

पिछले हफ्ते महोत्सव की शुरुआत करते वक्त एसपी प्रमुख मुलायम सिंह यादव बचाव की मुद्रा में दिखे। उन्होंने कहा था, ‘यह लोक कलाओं और संस्कृति को आगे बढ़ाने का कार्यक्रम है। सैफई महोत्सव में किसानों, मजदूरों और ग्रामीण युवाओं को बड़े सितारों को देखने और उनसे प्रेरित होने का मौका मिलता है, लेकिन नाच-गान की आलोचना की जाती है। क्या ग्रामीण और गरीब लोगों को गाना सुनने, नाचने और आनंदित होने का अधिकार नहीं है?’ इस बार कार्यक्रम की ओपनिंग पार्टी की राज्यसभा सांसद जया बच्चन और डिंपल यादव ने की।


Check Also

उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने मौलाना डॉ. कल्बे सादिक के अंतिम दर्शन करते हुए कही ये बात

Maulana Kalbe Sadiq Death News: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष व वरिष्ठ शिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *