Wednesday , 25 November 2020
Home >> Breaking News >> पाकिस्तान ने भारी गोलीबारी कर गांवों को बनाया निशाना

पाकिस्तान ने भारी गोलीबारी कर गांवों को बनाया निशाना


जम्मू ,(एजेंसी) 6 जनवरी । पाकिस्तानी सैनिकों ने कठुआ और सांबा जिले में कई सीमा चौकियों और 60 से ज्यादा बस्तियों पर पूरी रात भारी गोलीबारी की तथा मोर्टार बम भारतीय क्षेत्र में काफी अंदर तक गिरे। पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की ताजा घटना के चलते सीमाई गांवों के करीब 10,000 लोगों को अपने घर छोड़ने पड़े हैं। नव वर्ष की पूर्व संध्या से होने वाले इस संघर्ष विराम उल्लंघन में चार जवानों और एक महिला की मौत हो चुकी है जबकि भारत की ओर से जवाबी कार्रवाई में पांच पाकिस्तानी रेंजर्स मारे गए।
bsf-jawans
सीमा पर गश्त लगाते बीएसएफ के जवान
कठुआ के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि सोमवार की रात 11 बजे से कठुआ में 50 गांवों और कई सीमा चौकियों को निशाना बनाया गया और आज सुबह चार बजे फिर से गोलीबारी शुरू हो गई। उन्होंने कहा कि गोलीबारी इतनी तेज है कि मोर्टार के गोले भारतीय क्षेत्र में करीब चार किलोमीटर भीतर तक गिरे हैं। चौधरी ने बताया कि 82 एमएम के मोर्टार के गोले हीरानगर सेक्टर के शेरपुर, चकरा, लछीपुर और लोंदी इलाके में गिरे हैं। ये सभी इलाके भारतीय क्षेत्र में काफी अंदर हैं।

डीसी ने बताया कि बीएसएफ के जवानों ने जवाबी कार्रवाई की जिसके बाद मंगलवार सुबह सात बजे तक गोलीबारी चली। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार रात के बाद से गोलीबारी में किसी की जान नहीं गई या कोई आम नागरिक घायल नहीं हुआ। सांबा के एसएसपी अनिल मगोत्रा ने बताया कि सांबा में पाकिस्तान की ओर से कल रात साढ़े दस बजे तक हुई गोलीबारी में 10 से 12 गांवों और कई सीमा चौकियों को निशाना बनाया गया। सीमाई गांवों से करीब 10,000 लोगों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा है। 7,500 लोगों ने कठुआ और सांबा जिले के सुरक्षित इलाकों में सरकार द्वारा स्थापित किए गए शिविरों में शरण ले रखी है।
पाकिस्तानी रेंजर्स ने सोमवार को सांबा और कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के करीब स्थित 70 से ज्यादा बस्तियों और करीब 40 सीमा चौकियों पर भारी गोले दागे थे जिससे सांबा जिले में खावरा सीमा चौकी पर बीएसएफ के कॉन्स्टेबल देविंदर सिंह की मौत हो गयी थी। पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में तीन जनवरी को सेना के दो जवानों और एक महिला की मौत हो गई थी तथा 11 लोग घायल हो गए थे।

नववर्ष की पूर्व संध्या पर पाकिस्तानी गोलीबारी में बीएसएफ के एक जवान सहित दो लोगों की मौत हो गई थी और नौ घायल हो गए थे। दो महीने के बाद संघर्षविराम उल्लंघन फिर से शुरू हो गया है। बीते अगस्त और अक्टूबर में संघर्षविराम उल्लंघन की बड़ी घटनाओं में 13 लोगों की मौत हो गई थी और 32,000 से ज्यादा सीमाई बाशिंदे विस्थपित हुए थे।


Check Also

अमेरिका : निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने जोर शोर से सरकार गठन की तैयारियां शुरू की

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भले चुनाव में अपनी हार मानने के तैयार न हों, लेकिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *