Home >> Exclusive News >> सम्मान न मिलने से रीता नाराज, पहुंचीं बेनी के घर

सम्मान न मिलने से रीता नाराज, पहुंचीं बेनी के घर


images लखनऊ,(एजेंसी) 9 जनवरी । प्रदेश प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई सुपर थर्टी की बैठक में सम्मान न मिलने से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रीता बहुगुणा जोशी नाराज हो गईं और बिना खाना खाए ही लौट गईं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक रीता जोशी जब बैठक में पहुंचीं, तो मिस्त्री के आस-पास की कुर्सियों पर नेतागण बैठ चुके थे। रीता के आने पर किसी ने सीट नहीं छोड़ी, तो मजबूरन उन्हें किनारे की कुर्सी पर बैठना पड़ा।

इससे पहले, 28 दिसंबर को स्थापना दिवस के कार्यक्रम में भी उनके साथ ऐसा ही हुआ था। गुरुवार को फिर ऐसा होने से नाराज रीता बहुगुणा जोशी बैठक खत्म होते ही मीटिंग हॉल के बाहर निकल गईं। कई नेता रीता को मनाने के लिए पीछे दौड़े, लेकिन रीता खाना खाने नहीं गईं। हालांकि, रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि मीटिंग खत्म हो गई थी और उन्हें खाना नहीं खाना था इस लिए वह चली गईं। इसमें नाराजगी की कोई बात ही नहीं है।

बेनी से किया दुख का इजहार
बैठक से निकलने के कुछ देर बाद ही रीता बहुगुणा जोशी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा के घर पहुंच गईं। रीता जोशी ने बेनी प्रसाद को नए वर्ष की बधाई दी और करीब आधे घंटे तक वहां रुकीं। सूत्रों की माने तो रीता ने बेनी प्रसाद से भी अपने दुख का इजहार करते हुए कहा कि उन्हें अब पीसीसी में सम्मान नहीं मिल रहा है।

आधे नेता ही आए
सूबे के तीस चुनिंदा वरिष्ठ नेताओं (सुपर थर्टी) की इस बैठक में आधे नेता गैरहाजिर थे। प्रदीप जैन आदित्य को छोड़ कर कोई भी पूर्व केन्द्रीय मंत्री, पूर्व सांसद राजाराम पाल के अलावा कोई पूर्व सांसद और रीता बहुगुणा जोशी के अलावा कोई पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बैठक में नहीं आया। और तो और प्रदेश के चार सह प्रभारियों में केवल एक ही सह प्रभारी बैठक में मौजूद थे।


Check Also

ठण्ड का सितम दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना : मौसम विभाग

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *