Wednesday , 2 December 2020
Home >> एंटरटेनमेंट >> मूवी रिव्यू: नए पैकेट में बहुत पुराना माल है ‘तेवर’

मूवी रिव्यू: नए पैकेट में बहुत पुराना माल है ‘तेवर’


Tevar_lead
नई दिल्ली,(एजेंसी) 10 जनवरी । फिल्म तेवर का मक़सद साफ़ है. घिसी-पिटी कहानी पर मसालेदार फिल्म बनाइए और घर के हीरो का क़द बढ़ाइए। ज़ाहिर है फिल्म के प्रोड्यूसर (संजय कपूर) हीरो अर्जुन के चाचा हैं और फिल्म में अर्जुन का हर सीन एंट्री सीन की तरह लगता है। परेशानी ये है कि ऐसा एक्शन, गीत-संगीत और डायलॉग दर्शख पिछले 2-3 साल से लगातार देख रहे हैं। तेलुगु हिट फिल्म ओक्कडु की रीमेक तेवर में कहानी के नाम पर कुछ भी नया नहीं है।

मथुरा के बाहुबली मंत्री गजेंदर सिंह (मोनज बाजपेयी) को कॉलेज की लड़की राधिका से प्रेम हो जाता है। लेकिन जब राधिका गजेंदर के प्यार को ठुकरा देती है तो गजेंदर तय करता है कि किसी भी तरह राधिका को हासिल करेगा। अब कहानी में एट्री होती है आगरा के पिंटू शुक्ला (अर्जुन कपूर) की. पिंटू सलमान ख़ान का फैन है यानि ये तो साफ़ है कि उसे वो बेसिर-पैर की हरकतें करने का लाइसेंस है। वो ख़ुद रैंबो, टर्मिनेटर और सलमान का कॉम्बिनेशन बताता है. पिंटू और राधिका की लव स्टोरी के साथ, गजेंदर और पिंटू की दुश्मनी शुरू होती है।
tevar2
ज़ाहिर है कहानी में आपको एक लाइन भी नई नहीं लगी होगी. फिल्म का कोई सीन भी नया नहीं लगेगा। फिल्म बनाई भले ही अर्जुन कपूर के लिए गई है लेकिन फिल्म में सारी तालियां मनोज बाजपेयी और राज बब्बर के हिस्से आई हैं। हालांकि मनोज वाजपेयी कई सीन में बेहद ओवरएक्टिंग करते नज़र आते हैं। अर्जुन का रोल बिल्कुल उनकी फिल्म इशकज़ादे के किरदार से मिलता-जुलता है। यहां वो तेवर के मामले में पूरी तरह सलमान के नक्शे-क़दम पर चलने की कोशिश करते नज़र आए हैं, लेकिन साफ़ है वहां तक पहुंचने के लिए उन्हें लंबा रास्ता तय करना है।

सोनाक्षी इसी तरह के रोल करती रही है, यहां उन्हें कुछ इमोशनल सीन भी मिले हैं जो वो ठीकठाक निभा गई हैं। फिल्म में ककड़ी का रोल निभाने वाले सुब्रत दत्ता छोटे से रोल में कमाल कर गए हैं।

अब फिल्म का नाम तेवर है तो फिल्म के डायलॉग्स में ज़बरदस्ती तेवर घुसाने की कोशिश की गई है। अंत तक आते-आते ये सब बोझिल लगने लगता है। गीतों के नाम पर ‘मैं तो सुपरमैन’ और ‘जोगनिया’ है जो संगीतकार साजिद-वाजिद के कुछ पुराने गीतों की नक़ल भर लगते हैं।
tevar5
फिल्म के निर्देशक अमित शर्मा की ये पहली फिल्म है और कुछ सीन में उनका निर्देशन कसा हुआ नज़र आता है। फिल्म की पृष्ठभमि उत्तर प्रदेश की है और ये बात भी फिल्म के हर फ्रेम में उभर कर आती है। फिल्म का लुक अच्छा है। लेकिन अब जब तेवर रिलीज़ हुई है तब तक बॉलीवुड में इस अंदाज़ की पचासों फिल्में बन चुकी हैं। काश इन तेवरों के साथ निर्देशक कोई नई कहानी पेश करते। दर्शकों को भी ये बात तय करनी होगी कि वो एक ही तरह की फॉर्मूला फिल्में देखना चाहते हैं या नहीं?


Check Also

फिनाले से पहले बिग बॉस 14 में आ रही है अभिनेत्री कश्मीरा शाह और मनु पंजाबी की जोड़ी

बिग बॉस का 14वां सीजन अब अपने फिनाले के करीब पहुंच चुका है। हर दिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *