Home >> Breaking News >> सूर्य नमस्कार या भगवा एजेंडा?

सूर्य नमस्कार या भगवा एजेंडा?


surya namaskar

नई दिल्ली,(एजेंसी) 12 जनवरी । स्वामी विकेकानंद की जयंती पर आज मध्य प्रदेश के सभी स्कूलों में सामूहिक सूर्य नमस्कार का कार्यक्रम होने वाला है। सुबह ग्यारह बजे सूर्य नमस्कार के बाद बच्चों को विवेकानंद का भाषण सुनाया जाएगा। सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, उनके मंत्री और बीजेपी के विधायक और सांसद भी शामिल होंगे।

सरकार के निर्देश पर हर साल मध्य प्रदेश के स्कूलों में सूर्य नमस्कार के कार्यक्रम का आयोजन होता है, हालांकि ये अनिवार्य नहीं है। विपक्ष का आरोप है कि शिवराज सरकार सूर्य नमस्कार के बहाने बच्चों पर भगवा एजेंडा लागू करती है।

मध्य प्रदेश में सूर्य नमस्कार

swami-vivekananda

12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती को ‘युवा दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है जिसमें सभी स्कूल-कॉलेज में सामूहिक सूर्य-नमस्कार किया जाता है। सूर्य नमस्कार में आश्रम शाला के बच्चे भी भाग लेते हैं. साल 2007 के बाद सूर्य-नमस्कार का यह नौवां आयोजन है।

ऐसा माना जाता है कि हर साल लगभग एक करोड़ विद्यार्थी सूर्य नमस्कार में भाग लेते हैं। इस साल भी पांचवीं से बारहवीं कक्षा और यूनिवर्सिटी के छात्र सामूहिक सूर्य नमस्कार में हिस्सा लेंगे। शैक्षणिक संस्थाओं में सूर्य नमस्कार सुबह 11 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक किया जायेगा।

सभी जिलों में सामूहिक सूर्य-नमस्कार की तैयारियाँ पूरी कर ली गई हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन उज्जैन के दशहरा मैदान में विद्यार्थियों के साथ सूर्य नमस्कार करेंगे। जिलों में होने वाले सूर्य-नमस्कार में स्वयंसेवी संगठन और आम-जन भी भाग लेंगे।

जन-सामान्य में चेतना जागृत कर आयोजन को पिछले सालों की अपेक्षा अधिक व्यापक बनाने की तैयारियाँ की गई हैं। शिक्षण संस्थाओं में सूर्य-नमस्कार एक साथ-एक संकेत पर किया जायेगा। जिन शिक्षण संस्थाओं में मैदान नहीं है, वे निकटतम मैदान में सूर्य-नमस्कार करेंगे. सूर्य-नमस्कार में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का प्रसारण भी होगा।

सूर्य-नमस्कार में मुख्यमंत्री, मंत्रीगण, सांसद, विधायक जैसे जन-प्रतिनिधि भी शामिल होंगे. कक्षा एक से चार तक के बच्चे सूर्य-नमस्कार में शामिल नहीं होंगे, वे दर्शक के रूप में मौजूद रहेंगे। सूर्य-नमस्कार का सीधा प्रसारण रेडियो के सभी प्रायमरी चैनल और विविध भारती से होगा। सूर्य-नमस्कार में विद्यार्थियों का भाग लेना पूर्णत: स्वैच्छिक (अपनी मर्जी से) रहेगा।


Check Also

देश के किसानो के हित के लिए मोदी सरकार को कृषि कानूनों का वापस लेना चाहिए : CM ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मांग की है कि केंद्र सरकार को तुरंत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *