Home >> Breaking News >> महाराष्ट्र में कारोबार करना है तो सीखनी होगी मराठी: विनोद तावड़े

महाराष्ट्र में कारोबार करना है तो सीखनी होगी मराठी: विनोद तावड़े


नई दिल्ली,(एजेंसी) 13 जनवरी । महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार सीएम देवेंद्र फडणवीस चला रहे हैं। लेकिन सरकार के संस्कृति मंत्री विनोद तावड़े ने मराठी को लेकर ऐसा बयान दिया है जिस पर विवाद हो सकता है। तावड़े ने कहा है कि महाराष्ट्र में कारोबार करने के लिए मराठी को उन्होंने जरूरी बताया है। लोगों को भी दुकानदार से मराठी में बोल ही चीजें खरीदनी चाहिए।
tawde 01
तावडे ने निचली अदालतों में भी मराठी में कामकाज की बात कही है। उन्होंने कहा है कि वो चीफ जस्टिस से मिलकर कहेंगे कि निचली अदालतों में काम करने वाले वकीलों को भी मराठी आनी चाहिए और इसके लिए कानून बनें।

तावड़े ने कहा, ”लोगों को मराठी भाषा के लिए आग्रही होना चाहिए. यदि लोग कहेंगे कि हमें मराठी में बोलकर बेचने वाले दुकानदारो से माल खरीदेंगे तो मराठी अपने आप लागू होगी। यह जनता की मुहिम होनी चाहिए। लोग मांग करें कि लोग मराठी मे बोलें। इससे लोग मराठी साहित्य का लाभ गैर मराठी भी उठा पाएंगे।

तावड़े ने आगे कहा, ”महाराष्ट्र मे कारोबार करने वालों को मराठी आनी चाहिए। मैं गैर मराठी हो सकता हूं लेकिन अगर मुझे महाराष्ट्र में रहकर मराठी बोलना आता है या मैं मराठी सीखता हूं तो यह बहुत अच्छा होगा।”

तावड़े ने आगे मराठी भआषा पर कहा कि, ”निचली कोर्ट में मराठी में कामकाज होना चाहिए। इसीलिए मैं चीफ जस्टिस से मिलकर कहुंगा की निचली कोर्ट मे काम करने वाले वकीलों के लिए मराठी भाषा आना जरुरी हो, ऐसा कानून बने।
tawde 02
तावड़े के मुताबिक, मेरा मानना है कि शिक्षकों को चर्चा से मामला सुलझाना चाहिए। मैं उन्हें चर्चा के लिए आमंत्रण देता हुं. मार्च के अधिवेशन में हम कॉलेज में चुनाव कैसे करे इस पर कोई फैसला करेंगे।


Check Also

कोरोना संकट : जयपुर राजघराना सादगी भरा जीवन जीने वाले पूर्व सांसद पृथ्वीराज सिंह का निधन

जयपुर राजघराने में भी खौफनाक कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। इसकी वजह से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *