Sunday , 25 August 2019
खास खबर
Home >> 2019 >> May >> 11

Daily Archives: May 11, 2019

कांग्रेस नेता संजय निरुपम के बिगड़े बोल, कहा- ‘सरकार के चमचे होते हैं गवर्नर’

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर भाजपा और कांग्रेस में जुबानी जंग और तीखी होती जा रही है। अब इस सियासी जंग में कांग्रेस नेता संजय निरुपम का एक विवादित बयान सामने आया है। उन्‍होंने कहा है कि ‘हमारे देश के जितने राज्यपाल होते हैं, वे सरकार के चमचे होते हैं। जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक भी वही हैं।’ दरअसल, जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने राजीव गांधी पर लगे भ्रष्‍टाचार के आरोपों पर बीते बृहस्‍पतिवार को कहा था कि पूर्व पीएम शुरू में भ्रष्ट नहीं थे, लेकिन कुछ लोगों के प्रभाव में आकर वह कथित तौर पर बोफोर्स मामले में शामिल हो गए। संजय निरुपम राज्‍यपाल की इसी टिप्‍पणी पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे। उन्‍होंने कहा, ‘हमारे देश के जितने राज्यपाल होते हैं, वे सरकार के चमचे होते हैं। सत्यपाल मलिक भी चमचे ही हैं। राजीव गांधी को बोफोर्स केस में अदालतों ने क्लीन चिट मिली थी। यहां तक कि अरुण जेटली भी उन लोगों में से हैं जिन्‍होंने उन्‍हें क्‍लीन चिट दी थी।’   निरुपम यहीं नहीं रुके… उन्‍होंने कहा, ‘जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजीव गांधी को ‘भ्रष्‍टाचारी नं. 1′ कहा तो ... Read More »

ब्लैक टी या फिर ब्लैक कॉफ़ी क्या है सेहत के लिए बेहतर

चाय और कॉफी हम में से सभी लोगों की दिनचर्या का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. इसी से हमारे सुबह होती है और दिन ताज़गी भरा होता है.  हम सभी को बिस्तर से निकलने के बाद एक कप चाय या कॉफी चाहिए होती है जिससे हम अपनी नींद खोल सके और उर्जावान महसूस करें. ऐसे में कुछ लोगों को चाय पसंद होती है तो कुछ लोगों को कॉफी लेकिन लोगों में ब्लैक टी और ब्लैक कॉफी सबसे लोकप्रिय पेय है. अब बात ये आती है कि दोनों में बेहतर क्या है. तो आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं.  ब्लैक टी के फायदे ब्लैक टी का सेवन आपके इम्यून सिस्टम को बेहतर करने में मदद करता है. इसके अलावा यह प्लाक के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को मारती है, इंफ्लेमेशन को कम करती है और हड्डियों को मजबूत बनाती है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट जैसे फ्लैवोनोइड्स पाएं जाते हैं जो सेब में भी मौजूद होते हैं. चाय में कैफीन की मात्रा कम होती है इसलिए यह आपको उर्जावान और सक्रिय रखने में मदद करती है. यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करके वजन ... Read More »

सेहत के लिए लाभकारी है आलूबुखारा, जानिए अनेक फायदे

आलूबुखारा हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसके बारे में अपने सुना ही होगा. आपको बता दें, आलूबुखारा के सेवन से हाई ब्लड़ प्रेशर, स्ट्रोक आदि का खतरा कम हो जाता है और साथ ही इसके सेवन से शरीर में आयरन की कमी पूरी हो जाती है. इसके अलावा आलूबुखारे में भरपूर मात्रा में कई तरह के विटामिन और मिनरल मौजूद होते है जो हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. आज हम इसी के कुछ फायदे बताने जा रहे हैं जिन्हें आप भी अपना सकते हैं और लाभ पा सकते हैं. आलूबुखारा खाने के फायदे: * आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता है और साथ ही इसमें कैलोरी और फैट की मात्रा ना के बराबर कम होती है. इसके अलावा इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर मौजूद होते है जो सेहत को बहुत सारे लाभ पहुंचाते हैं. * आलूबुखारा में एंटीऑक्सीडेंट की भी भरपूर मात्रा पायी जाती है जो बॉडी की इम्युनिटी पावर को स्ट्रांग बनाती है. इसके अलावा आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में  नियासिन, राइबोफ्लेविन और थायमिन जैसे तत्व भी ... Read More »

अमेरिका से ‘ट्रेड वॉर’ हुआ तीखा पर चीन ने जताई उम्‍मीद

अमेरिका से जारी ‘ट्रेड वॉर’ के बीच चीन ने कहा है कि अमेरिका से ‘व्यापार वार्ता’ विफल नहीं हुई है, इसका अगला दौर बीजिंग में होगा। चीन का यह बयान उस वक्‍त आया है जब अमेरिका ने 200 अरब डॉलर के चीनी उत्पादों पर टैरिफ की दर को 10 फीसद से बढ़ाकर 25 फीसद कर दिया है। अमेरिका के सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा ने चीन से आने वाले करीब 5,700 से अधिक उत्पादों पर टैरिफ दर बढ़ाई है। चीन के शीर्ष व्यापार वार्ताकार लियू हे ने वाशिंगटन में कहा कि अमेरिका के साथ बीजिंग में व्यापार वार्ता जारी रहेगी। हालांकि, उन्‍होंने यह भी चेतावनी दी कि महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर कोई रियायत नहीं दी जाएगी। चीनी उत्पादों पर अमेरिका द्वारा टैरिफ दर बढ़ाए जाने के मामले में उन्‍होंने कहा कि दोनों देशों के बीच ‘व्यापार वार्ता’ में आया यह केवल एक सामान्‍य मोड़ है, बातचीत टूटी नहीं है। लियू हे ने यह नहीं बताया कि अमेरिका और चीन के बीच बीजिंग में यह ‘व्यापार वार्ता’ कब होगी। उन्‍होंने कहा कि दोनों ही देश इसे भविष्य में जारी रखने पर सहमत ... Read More »

ट्यूनीशिया के नजदीक प्रवासियों से भरी नाव पलटी, 65 की मौत, चार महीनों में 164 की गई जान

ट्यूनीशिया के स्‍फाक्‍श प्रांत के तट से 40 मील दूर भूमध्य सागर में प्रवासियों से भरी एक नाव के पलटने से कम से कम 65 लोगों की मौत हो गई है। संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी ने बताया है कि इस दुर्घटना में 16 लोगों को बचाया गया है। जीवित बचे लोगों के मुताबिक, यह हादसा समुद्र की तेज और ऊंची उठ रही लहरों के कारण हुआ। यह नाव बृहस्‍पतिवार को लीबिया से चली थी। संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी के आंकड़ों के मुताबिक, बीते चार महीनों में लीबिया से यूरोप जाने वाले समुद्री रास्‍ते में लगभग 164 लोगों की मौत हुई है। इस साल का यह सबसे बड़ा नौका हादसा माना जा रहा है। हादसे में जीवित बचे लोगों को ट्यूनीशिया की नौसेना द्वारा तट पर लाया गया। हादसे का शिकार हुए एक व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती भी कराया गया है। इस नाव में सवार भी अधिकांश लोग अफ्रीकी बताए जाते हैं। ट्यूनीशियाई रक्षा मंत्रालय ने बताया कि जैसे ही उनको इस हादसे का पता चला उन्होंने लोगों को बचाने के लिए एक नाव रवाना कर दी। स्‍थानीय ... Read More »

सैम पित्रोदा के बयान पर राहुल ने दी प्रतिक्रिया, कहा- 1984 भयानक त्रासदी

सन् 1984 में हुए सिख दंगों को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैम पित्रोदा ने विवादित बयान को लेकर हंगामा जारी है, उनके इस बयान के बाद से उन्हें खूब आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, बाद में अपने बयान को लेकर उन्होंने माफी मांगी ली। अब इसे लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। एक फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा कि मुझे लगता है सैम जी ने जो भी कहा उसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। 1984 में जो हुआ वो एक भयानक त्रासदी थी, जिसने काफी दर्द पहुंचायाा। राहुल ने आगे कहा मुझे लगता है कि न्याय होना बाकी है। 1984 की त्रासदी के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित किया जाना है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और मेरी मां सोनिया गांधी जी ने इसपर माफी मांगी है। हमारी स्थिति इसे लेकर एकदम साफ है कि 1984 में जो हुए वो एक भयानक त्रासदी है जोकि कभी होनी ही नहीं चाहिए थी। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह जी ने माफी मांगी है। मेरी मां, सोनिया गांधी जी ने माफी मांगी है। ... Read More »

प्रियंका ने की ट्यूमर से पीडि़त बच्ची की मदद, चार्टर्ड प्लेन से प्रयागराज से एम्स दिल्ली भेजा

लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचार की व्यस्तता के बीच में भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्यूमर से जूझ रही एक बच्ची की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है। उन्होंने कमला नेहरू अस्पताल प्रयागराज में इलाज करा रही बच्ची की हालत गंभीर होने पर चार्टर्ड प्लेन से उसे दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराने भेजा है। रायबरेली की एक बेटी की हालत प्रयागराज के कमला नेहरू अस्पताल में हालत गंभीर होने की जानकारी मिलने पर कांग्र्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने बड़ी पहल की। प्रयागराज के कमला नेहरू अस्पताल में ट्यूमर से जूझ रही बच्ची इलाज के लिए पहुंची। उसकी तबीयत में कोई सुधार नहीं हो रहा था। यह देख उसके आर्थिक रूप से कमजोर परिजन परेशान हो गए. इसके बाद उन्होंने बच्ची के इलाज में मदद के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से सम्पर्क किया। मामला संज्ञान में आते ही प्रियंका गांधी तुरंत बच्ची की मदद को आगे आईं। प्रियंका गांधी ने इलाहाबाद संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी योगेश शुक्ला के चुनाव प्रचार करने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला, गुजरात ... Read More »

अब बदरीनाथ में छह माह तक नर करेंगे नारायण की पूजा

भगवान बदरी विशाल के अपने धाम में विराजमान होने के बाद अब अगले छह माह नर उनकी पूजा करेंगे। मान्यता है कि कपाट बंद होने के बाद शीतकाल के छह माह देवर्षि नारद देवताओं के प्रतिनिधि के रूप में भगवान नारायण की पूजा करते हैं। इस दौरान नर की आवाजाही धाम में प्रतिबंधित रहती है।  समुद्र तल से 3133 मीटर (10276 फीट) की ऊंचाई पर स्थित श्री बदरीनाथ धाम को देश के चारों धाम में सर्वश्रेष्ठ माना गया है। ‘स्कंद पुराण’ के केदारखंड में उल्लेख है कि ‘बहुनि सन्ति तीर्थानी दिव्य भूमि रसातले, बदरी सदृश्य तीर्थं न भूतो न भविष्यति:।’ अर्थात स्वर्ग, पृथ्वी व नर्क तीनों ही जगह अनेकों तीर्थ हैं, परंतु बदरीनाथ के समान तीर्थ न तो भूतकाल में था और न भविष्य में ही होगा। मान्यता है कि हिमालय की कंदराओं में पहाड़ियों से घिरे बदरीनाथ धाम में भगवान विष्णु ने तप किया था। इसलिए यहां भगवान बदरी विशाल की पूजाओं की भी विशिष्ट परंपराएं हैं। छह माह शीतकाल में जब नारायण के कपाट बंद होते हैं, तब देवताओं के प्रतिनिधि के रूप में देवर्षि नारद भगवान विष्णु ... Read More »

सूखे की समस्या से जूझ रहा यह गांव, पानी के लिए कई किलोमीटर करते हैं सफर

पश्चिम बंगाल के बंकुरा जिले के एक गांव में लोग पानी की किल्लत से परेशान हैं। यहां यह हाल है कि लोगों को पानी के लिए कई किलोमीटर पैदल चलकर जाना पड़ता है। यहां के नागरिकों का कहना है कि नेता सिर्फ चुनाव के समय वोट मांगने के लिए यहां का रुख करते हैं, वरना किसी को हमारी समस्याओं का ख्याल नहीं रहता है। शुली बोना नाम का यह गांव सल्तोरा ब्लॉक में आता है, जहां प्रसिद्ध आदिवासी जनजाति संथला की लगभग 400 आबादी निवास करती है। गांव में इस वक्त सूखे जैसी स्थिति है। गर्मियों के समय यहां पानी की समस्या और ज्यादा बढ़ जाती है। गांव में लोग इतनी बुरी हालत में जी रहे हैं कि पीने का पानी तक उनको नसीब नहीं हो रहा है, इसके लिए वे कई-कई किलोमीटर का सफर तय करते हैं। यहां रहने वाली एक महिला शांति मुरमु ने कहा कि हमारे पास बाथरूम तो हैं, लेकिन पानी के बिना उनका क्या करें इसलिए हमें जंगलों में जाना पड़ता है। इतने समय तक किसी को हमारी याद नहीं आती लेकिन वोट मांगने के ... Read More »

गंगा सप्तमी पर श्रद्धालुओं ने हरिद्वार की हरकी पैड़ी में लगाई आस्था की डुबकी

गंगा सप्तमी में सुबह से ही उत्तराखंड के गंगा घाटों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। विशेषकर हरिद्वार में हरकी पैड़ी पर श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान के बाद दान कर पुण्य कमाया।  हरिद्वार में हरकी पैड़ी सहित विभिन्न गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ सुबह से ही जुटने लगी। श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान के बाद मां गंगा की पूजा अर्चना की। साथ ही दान देकर पुण्य भी कमाया। इस दौरान हरिद्वार के गंगा घाटों के साथ ही मठ मंदिरों में भी श्रद्धालुओं की भीड़ रही। गंगा सप्तमी पर्व पर कानून और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए हरिद्वार में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। हर तरह गंगा घाटों पर मां गंगा के जयकारे गूंजते रहे। घंटे घड़ियालों की कर्णप्रिय ध्वनि से हर कोई मंत्रमुग्ध नजर आया। यह है मान्यता  बैशाख शुक्ल सप्तमी के दिन ब्रह्मा के कमंडल से मां गंगा की उत्पत्ति हुई थी। इसे गंगा जन्मोत्सव भी कहा जाता है। इसी दिन भागीरथ ने अपने घोर तप से मां गंगा को प्रसन्न किया। इसके बाद मां गंगा भगवान शिव की जटाओं में समाहित हुई उसी दिन से यह पर्व आज तक ... Read More »

Study Mass Comm