Home >> बिज़नेस

बिज़नेस

Amazon के मालिक जेफ बेजोस की संपत्ति 4275 अरब रुपये बढ़ गई

कोरोना संकट में कई बिजनेस सेक्टर का बुरा हाल है.लेकिन ऑनलाइन सेगमेंट में जबरदस्त कमाई हो रही है. खास कर ई-रिटेल कंपनियों के पास ऑर्डर की भरमार है. इस दौर में दुनिया की सबसे बड़ी ई-रिटेल कंपनी के मालिक जेफ बेजोस की संपत्ति 4275 अरब रुपये बढ़ चुकी है.गुरुवार को अमेजन के शेयर 0.4 फीसदी की तेजी के साथ 2,890 रुपये पर बंद हुए. ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक उनकी दौलत 172 अरब डॉलर यानी 12,900 अरब रुपये तक पहुंच गई. सितंबर 2018 में उनकी  संपत्ति 167.7 अरब डॉलर थी. इस साल बेजोस की संपत्ति में 56.7 अरब डॉलर यानी लगभग 4275 अरब रुपये का इजाफा हुआ है. ऐसे वक्त में जब पूरी दुनिया में बरोजगारी में भारी इजाफा हुआ है,वहीं जेफ बेजोस की संपत्ति में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है. जेफ बेजोस की अमेजन में 11 फीसदी हिस्सेदारी है. जेफ ने अपनी पूर्व पत्नी को तलाक के एवज में अपनी संपत्ति की चौथाई फीसदी दी है. उनकी पत्नी मैकन्जी बेजोस के पास अमेजन की 4 फीसदी हिस्सेदारी और उनकी दौलत 56.9 अरब डॉलर हैं. वह दुनिया की 13वीं सबसे अमीर …

Read More »

दुनियाभर में बेहतरीन कंप्यूटर चिप बनाने कंपनी इंटेल कैपिटल जियो प्लेटफॉर्म्स में 1,894.5 करोड़ रुपये का निवेश करेगी

अमेरिकी कंपनी इंटेल कॉरपोरेशन की इन्वेस्टमेंट आर्म इंटेल कैपिटल जियो प्लेटफॉर्म्स में 1894.50 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है। इस निवेश से इंटेल कैपिटल की जियो प्लेटफॉर्म्स में 0.39 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। रिलायंस इंडस्ट्रीज के कर्जमुक्त होने के बाद भी मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला जारी है। कुल 12 निवेशों के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 25.09 फीसदी इक्विटी के लिए 1,17,588.45 लाख करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है। दुनियाभर में बेहतरीन कंप्यूटर चिप बनाने कंपनी इंटेल कैपिटल ने 0.39 फीसदी इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 1,894.5 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है। जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और सिल्वर लेक ने कंपनी में निवेश की घोषणा की। इसके बाद अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी ( ADIA), टीपीजी, एल कैटरटन और पीआईएफ ने भी निवेश की घोषणा की थी। इस संदर्भ में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा कि, ‘दुनिया के प्रौद्योगिकी लीडर्स के साथ हमारे संबंध …

Read More »

भारत के कदम से टिकटाॅक और हैलाे को तगड़ा झटका लगा है

भारत ने टिकटॉक और शेयरइट समेत चीन के 59 मोबाइल एप्स पर पाबंदी क्या लगाई, चीन बौखला गया। भारतीय भी चीनी सामान के बहिष्कार की बात कर रहे हैं। इससे चिढ़े चीन चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के प्रधान संपादक हू शिजिन ने मंगलवार को लिखा कि चीन के लोग अगर भारतीय उत्पादों का बहिष्कार करना चाहें तो वे ऐसे ज्यादा उत्पाद खोज भी नहीं पाएंगे। उनके कहने का मतलब यह था कि चीन में भारतीय उत्पाद मिलते ही नहीं हैं जबकि भारतीय बाजार तो चीनी सामानों से भरे पड़े हैं। शिजिन ने लिखा, ‘भारतीय दोस्तो, आपको राष्ट्रवाद से अधिक महत्वपूर्ण बातों के बारे में सोचने की जरूरत है।’ चीन के अखबार के संपादक की इस बात में उनकी बौखलाहट भी झलक रही है। उनके इस घटिया वक्तव्य का उत्तर उद्याेगपति आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर दिया। महिंद्रा ने लिखा, ‘मैं समझता हूं कि यह तंज भारतीय कंपनियाें काे मिला अब तक का सबसे प्रभावी और प्रेरक नारा हाे सकता है। हमें उकसाने के लिए धन्यवाद। हम इसे अवसर बनाकर ऊपर उठेंगे। जल्द ही जवाब देंगे।’ एप बैन होने …

Read More »

दूरसंचार कंपनी वोडाफोन को हुई अब तक की सबसे बड़ी वार्षिक हानि

देश की तीसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया ने बुधवार को कहा कि उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के अनुसार सांविधिक बकाए का प्रावधान करने के बाद मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष के दौरान उसकी शुद्ध हानि 73,878 करोड़ रुपये रही। यह किसी भी भारतीय कंपनी को हुई अब तक की सबसे बड़ी वार्षिक हानि है। न्यायालय ने आदेश दिया था कि सांविधिक बकाए की गणना में गैर-दूरसंचार आय को भी शामिल किया जाएगा, जिसके बाद कंपनी को 51,400 करोड़ रुपये चुकाने हैं। कंपनी ने कहा कि इस देनदारी के कारण कंपनी का कामकाम जारी रहने को लेकर गंभीर संदेह पैदा हुए। वोडाफोन आइडिया (वीआईएल) ने शेयर बाजार को बताया कि मार्च तिमाही के दौरान उसका शुद्ध नुकसान 11,643.5 करोड़ रुपये रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही के दौरान 4,881.9 करोड़ रुपये था और अक्टूबर-दिसंबर 2019 तिमाही में 6,438.8 करोड़ रुपये था। कंपनी ने बताया कि मार्च 2020 तिमाही के दौरान परिचालन से आय 11,754.2 करोड़ रुपये रही। बीते वित्त वर्ष के दौरान कंपनी को 73,878.1 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। वोडाफोन आइडिया को वित्त वर्ष 2018-19 के …

Read More »

जुलाई महीने के पहले ही दिन आम आदमी को लगा बड़ा झटका एलपीजी सिलिंडर हुआ महंगा

जुलाई महीने के पहले ही दिन आम आदमी को झटका लगा है। देश की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने बिना सब्सिडी वाले एलपीजी रसोई गैस सिलिंडर की कीमतों में इजाफा कर दिया है। आज से 19 किलोग्राम और 14.2 किलोग्राम वाले गैर-सब्सिडी एलपीजी सिलिंडर के दाम बढ़ गए हैं। तेल कंपनियां हर महीने की शुरुआत में एलपीजी सिलिंडर के दामों की समीक्षा करती है। हर राज्य में टैक्स अलग-अलग होता है और इसके हिसाब से एलपीजी के दामों में अंतर होता है। इससे पहले जून महीने के दौरान दिल्ली में 14.2 किलोग्राम वाला गैर-सब्सिडाइज्ड एलपीजी सिलिंडर 11.50 रुपये महंगा हो गया था। वहीं, मई में ग्राहकों को राहत मिली थी और यह 162.50 रुपये तक सस्ता हुआ था। आईओसीएल की वेबसाइट से प्राप्त जानकारी के अनुसार, दिल्ली में 14.2 किलोग्राम वाला गैर-सब्सिडी एलपीजी सिलिंडर एक रुपये महंगा हो गया है। कोलकाता में चार रुपये, मुंबई में 3.50 रुपये और चेन्नई में चार रुपये महंगा हुआ है। इसके बाद दिल्ली में इसकी कीमत 594 रुपये हो गई है, जो पहले 593 रुपये थी। कोलकाता में इसका दाम 616 रुपये से बढ़कर 620.50 …

Read More »

चीनी ऐप्स का भारत में अरबों का कारोबार हुआ ठप

केंद्र सरकार ने सुरक्षा और निजता का हवाला देते हुए लोकप्रिय चीनी ऐप टिकटॉक, शेयरइट और वीचैट समेत कुल 59 चीनी ऐप्स पर पाबंदी लगा दी है. चीन के साथ तनाव के बीच इन ऐप पर रोक लगाने की मांग की जाने लगी थी. इन ऐप्स का भारत में अरबों का कारोबार है और इनके डाउनलोड का बड़ा हिस्सा भारत में ही होता है. बैन का सामना करने वाले अन्य लोकप्रिय चीनी ऐप्स में यूसी ब्राउजर, यूसी न्यूज और एमआई कम्युनिटी जैसे चर्चित ऐप भी शामिल हैं. सरकार ने ऐसे चीनी ऐप पर रोक लगाया है जो मुख्यत: गैर फाइनेंशियल नेचर के हैं. चीन की दिग्गज कंपनियों अलीबाबा, बाइटडांस, बाइडू, टैन्सेंट आदि ने इन ऐप में भारी निवेश किया है. भारत में इनकी डाउनलोडिंग का बड़ा हिस्सा है. इसलिए इन कंपनियों को आर्थिक रूप से भारी नुकसान हो सकता है. इनके वैल्यूएशन पर भी असर पड़ सकता है. भारत के कुल ऐप डाउनलोड का करीब 50 फीसदी हिस्सा चीनी ऐप का ही होता है. बैन होने वाले ऐप में भारत में सबसे लोकप्रिय टिकटॉक के 30 फीसदी यूजर भारतीय हैं …

Read More »

पीक सीजन में कोरोना ने इस साल आइसक्रीम के कारोबार को 45 हजार करोड़ का नुकसान पहुचाया

कोविड महामारी ने इस साल आइसक्रीम के कारोबार को चौपट कर दिया. इससे उद्योग को हज़ारों करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है. यह नुकसान संगठित क्षेत्र में 15,000 करोड़ रुपये और असंगठित क्षेत्र में 30,000 करोड़ रुपये से अधिक का है. आइसक्रीम का पीक सीजन आमतौर पर फरवरी से जून तक होता है. यानी गर्मियों की शुरुआत से लेकर मानसून की दस्तक तक. महामारी के चलते लॉकडाउन की वजह से इस सीजन में आइसक्रीम की नगण्य बिक्री हुई है. आमतौर पर साल के गर्मियों के चार महीने में ही पूरे साल की आइसक्रीम बिक्री का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा आता है. आइसक्रीम उद्योग पर प्रवासी मजदूरों के पलायन का भी बुरा असर पड़ा है. अधिकतर आइसक्रीम के ठेलों (पुशकार्ट्स) को यही मजदूर चलाते हैं. इंडियन आइसक्रीम मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता अनुव्रत पबराई ने आजतक/इंडिया टुडे से कहा, “जब से मैं आइसक्रीम उद्योग में आया हूं, ये सबसे बुरा दौर देख रहा हूं. मार्च से जुलाई के अंत तक चलने वाला सीजन पूरी तरह बर्बाद हो गया है. प्रवासी मजदूरों के चले जाने से पुशकार्ट चलाने वाले बहुत कम …

Read More »

बड़ी खबर: बजाज ऑटो के फैक्टरी में 140 स्टाफ कोरोना पॉजिटिव 2 कर्मचारीयो की हुई मौत

दोपहिया वाहन बनाने वाली देश की टॉप कंपनियों में शुमार बजाज ऑटो के वालुज फैक्टरी में 140 स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इस फैक्ट्री में 8100 से ज्यादा वर्कर काम करते हैं. दो कर्मचारी जिन्हें हाइपर टेंशन और डायबिटीज की शिकायत थी, उनकी कोरोना के चपेट में आने से मौत हो गई है. कंपनी ने कोरोना की वजह से इस फैक्टरी में फिलहाल बंदी से इनकार किया है. इस फैक्ट्री में खासकर निर्यात के लिए उच्च क्वॉलिटी की बाइक बनाई जाती हैं. इस फैक्टरी में लॉकडाउन की वजह से एक महीने की लंबी बंदी के बाद 24 अप्रैल से उत्पादन शुरू हुआ था. कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी रवि कयार्न रामास्वामी ने कहा कि हमें ऐसी जानकारी मिली है कि ऐसी खबरें चल रही हैं कि महाराष्ट्र के वालुज में स्थित हमारी फैक्टरी को कुछ सदस्यों को कोरोना होने से बंद करना पड़ा है. उन्होंने कहा कि हम बताना चाहते हैं कि वालुज में निर्माण यूनिट में सामान्य तौर पर काम हो रहा है. उन्होंने कहा कि पूरे देश की तरह बजाज ऑटो भी कोरोना वायरस के साथ …

Read More »

भारत में आयात तभी होना चाहिए ​जब इससे रोजगार के अवसर तैयार हों: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि देश की तरक्की के लिए अगर किसी देश से आयात किया जाता है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. देश में चीन से आने वाले आयात पर अंकुश लगाने की बढ़ती मांग के बीच वित्त मंत्री का यह बयान काफी मायने रखता है. गौरतलब है कि भारत-चीन नियंत्रण रेखा पर हाल में हुई हिंसक झड़प में हमारे देश के 20 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद से देश में चीन विरोधी राष्ट्रवाद चरम पर है. कई संगठनों ने चीनी माल के बहिष्कार की अपील की है. भारत-चीन के बीच व्यापार में पलड़ा चीन के पक्ष में झुका हुआ है. साल 2018-19 में भारत में चीन से 70 अरब डॉलर का आयात किया गया था. भारतीय जनता पार्टी की तमिलनाडु यूनिट के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने गुरुवार को कहा कि जो कच्चा माल देश में उपलब्ध नहीं है और उसकी हमारी किसी इंडस्ट्री को जरूरत है तो उसका आयात करने में कुछ भी गलत नहीं है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक केंद्र सरकार के आत्मनिर्भर अभियान की जानकारी …

Read More »

महंगाई ने कमर तोड़ी: दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80.13 रुपये पहुची

पेट्रोल-डीजल के दाम में तेल कंपनियों ने शुक्रवार को लगातार 20वें दिन बढ़त की है. दिल्ली में अब पेट्रोल 80 के पार हो गया है, जबकि डीजल तो एक दिन पहले ही यह आंकड़ा पार कर चुका है. ​शुक्रवार को डीजल 17 पैसे महंगा हुआ वहीं पेट्रोल की कीमत में 21 पैसे का इजाफा हुआ है. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत कल के 79.92 रुपये से बढ़ कर 80.13 रुपये पर चली गई है. वहीं डीजल 80.19 रुपए प्रति लीटर हो गई है. दिल्ली में डीजल का दाम पेट्रोल से ज्यादा है. दिल्ली के अलावा अन्य शहरों की बात करें तो मुंबई में पेट्रोल 86.91 रुपये और डीजल 78.51 रुपये लीटर है. चेन्नै में पेट्रोल 80.37 रुपये और डीजल 77.44 रुपये लीटर, कोलकाता में पेट्रोल 81.82 रुपये और डीजल 75.34 रुपये लीटर तथा नोएडा में पेट्रोल 80.85 रुपये और डीजल 72.29 रुपये लीटर है. गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी है, इसके बावजूद तेल कंपनियां अपना मार्जिन सुधारने के लिए कीमतें बढ़ा रही हैं. भारतीय कंपनियों ने कच्चा तेल काफी पहले ही खरीद कर …

Read More »