Home >> कुछ हट के

कुछ हट के

पिछले तीन सालों से टॉयलेट में रहती है 71 वर्षीय महिला और खाती है…

 ओडिशा के मयूरभंज जिले में एक 72 साल की महिला पिछले तीन सालों से टॉइलट में रहने को विवश है। महिला को राज्य की पटनायक सरकार द्वारा आवास न प्राप्त होने की वजह से उन्हें इस तरह से जिंदगी बितानी पड़ रही है। द्रौपदी बहेरा नाम की इस महिला का कहना है कि उनका पूरा परिवार, जिनमें उनका पोता और बेटी भी शामिल है, उन सभी लोगों को बाहर खुले में रात बितानी पड़ती है। हालांकि, द्रौपदी टॉइलट में ही भोजन पकाती हैं और वहीं पर सो भी जाती हैं। यह टॉइलट कनिका गांव के प्रशासन की तरफ से तैयार करवाया गया था। द्रौपदी का कहना कि उन्होंने अपनी समस्याओं को संबंधित विभागों के सामने भी रखा था। इसके बाद विभागों की ओर से उन्हें आवास उपलब्ध कराने का वादा किया गया। वह कहती हैं, ‘हम अबतक अपने आवास मिलने की प्रतीक्षा है।’ गांव के सरपंच बुधूराम पुती बताते हैं कि,  ‘मेरी इतनी हैसियत नहीं है कि उनके लिए एक घर बनवा दूं। जब योजना के अनुसार, अतिरिक्त घर बनाने का आदेश आएगा तो निश्चित तौर पर मैं उन्हें एक …

Read More »

दूध से ज्यादा बियर पीना होगा फायदेमंद जानकर हैरान हो जाएगे आप

हम सभी यह जानते है कि शराब या बियर पीना सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। इसी वजह से हमें बचपन से बियर पीने से होने वाले नुकसान और दूध से होने वाले फायदों के बारे में बताया जाता है। लेकिन पेटा (पीपल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल PETA) के अनुसार दूध पीने से ज्यादा बियर पीना सेहत के लिए फायदेमंद रहता है। पेटा का मानना है कि बियर न सिर्फ हड्डियों को मजबूत बनाता है, बल्कि इसे पीने से उम्र भी बढ़ती है। पेटा ने लोगों को दूध न पीने की सलाह दी है। पेटा का कहना है कि बियर इंसान के हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करती है। शरीर की मांसपेशियों के विकास के लिए भी इसे काफी फायदेमंद बताया जाता है। जबकि दूध पीने से कई तरह के हृदय रोग, मोटोपा, डायबिटीज और कैंसर की बीमारियों उत्पन्न होती हैं। पेटा ने यह दावा हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की एक रिपोर्ट के आधार पर किया है। इस बयान को शाकाहारी होने के फायदों से जोड़कर भी देखा जा रहा है। हालांकि इस दावे …

Read More »

एक अकेला पुल जिसका नहीं हुआ आज तक उद्घाटन बम भी नहीं बिगाड़ सका था इसका कुछ

हमारे देश में कई अनोखी चीजें हैं जिसे देखने के लिए विदेशी सैलानी भी आतुर रहते है। कई तो अपना ऐतिहासिक महत्व रखते हैं। ऐसा ही एक हैं कोलकाता का हावड़ा ब्रिज। यह हमेशा से ही कोलकाता की पहचान रहा है। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान दिसंबर 1942 में जापान का एक बम इस ब्रिज से कुछ दूरी पर ही गिरा था, लेकिन यह ब्रिज तब भी ज्यों का त्यों ही खड़ा रहा, जैसे आज है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस विश्व प्रसिद्ध पुल का आज तक उद्घाटन भी नहीं हुआ है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्नीसवीं सदी के आखिरी दशकों में ब्रिटिश इंडिया सरकार ने कोलकाता और हावड़ा के बीच बहने वाली हुगली नदी पर एक तैरते हुए पुल के निर्माण की योजना बनाई। ऐसा इसलिए क्योंकि उस दौर में हुगली में रोजाना कई जहाज आते-जाते थे। खंभों वाला पुल बनाने से कहीं जहाजों की आवाजाही में रुकावट न आये, इसलिए 1871 में हावड़ा ब्रिज एक्ट पास किया गया। साल 1936 में हावड़ा ब्रिज का निर्माण कार्य शुरू हुआ और 1942 में यह पूरा हो गया। …

Read More »

महिला टीचर ने शारीरिक संबंध बनाने के लिए लिया 15 साल के छात्र को गोद

अमेरिका के न्यू जर्सी के ट्रेन्टन में एक शादीशुदा महिला टीचर पर आरोप लगा है कि उन्होंने 15 साल के छात्र को इसलिए गोद लिया ताकि वह उसके साथ शारीरिक संबंध बना सके। दरअसल, 15 साल के लड़के को घर से बाहर निकाल दिया था तब 45 साल की टीचर रायना कल्वर उसकी लीगल गार्जियन बन गईं। लड़के का दावा है कि कई महीनों तक टीचर ने रोज उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। बच्चे का भविष्य खराब करने और यौन शोषण के मामले में टीचर पर मुकदमा चलाया जा रहा है। कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक, बच्चे की कस्टडी लेने से पहले से ही टीचर उसके काफी करीब हो गई थी। शुरुआत में टीचर गलत तरीके से उसे छूती थी, लेकिन लड़का इसके बारे में अधिक सोच नहीं पा रहा था। बाद में लड़के ने जब टीचर को संबंध बनाने से मना किया तो उन्होंने दबाव बनाया। इस मामले में अभी ट्रायल चल रहा है। गिरफ्तारी के बाद से ही टीचर छुट्टी पर थीं, लेकिन अब उनके स्कूल जाने पर तब तक बैन लगा दिया गया है जब तक कोर्ट …

Read More »

गजब: यहाँ 1560 फीट ऊंचे पहाड़ से गिरता है आग का झरना

दुनियाभर में कई झरने हैं जो आप सभी ने देखे ही होंगे लेकिन आज हम एक ऐसे झरने के फोटोज लाए हैं कि देखने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे. जी हाँ, दरअसल इस झरने में से पानी नहीं गिरता बल्कि आग गिरती है. जी हाँ, आप खुद देख सकते हैं इस झरने से आग गिर रही है. वैसे अगर आपको ऐसा लग रहा होगा कि हम झूठ बोल रहे हैं तो आप इस जगह पर जा सकते हैं. जी हाँ, वैसे तो आपने हमेशा पानी वाले ही झरने देखे होंगे, लेकिन क्या कभी ऐसा झरना देखा है जिससे आग गिरती हो? नहीं ना. अब आज हम आपको एक ऐसे झरने के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ से आग निकलती है. यह झरना 1560 फीट ऊंचे पहाड़ से गिरता है और इसे देखने दूर दूर से लोग आते हैं. यह कैलिफोर्निया के योसेमिटी नैशनल पार्क में है और यह 1560 फीट ऊंचे कैप्टन माउंटेन से गिरता है. इसी के साथ इसे फायरफॉल भी कहा जाता है, जिसका मतलब होता है आग का झरना. दूर-दूर से लोग इस झरने …

Read More »

दुनिया की सबसे महंगी जेल जहां एक कैदी पर होते है लाखो खर्च

आमतौर जब भी जेल का नाम जेहन में आता है तो मन में कई तरह के सवाल उठ जाते हैं। मसलन वहां की सुरक्षा, कैदियों के खाने-पीने की व्यवस्था कैसी होगी। लेकिन क्यूबा में एक ऐसी जेल है, जहां इन सब बातों को सोचने का कोई मतलब ही नहीं बनता है, क्योंकि यहां सिर्फ एक कैदी पर करोड़ों रुपये खर्च होते हैं। यही कारन है कि यह जेल दुनिया की सबसे महंगी जेल मानी जाती है। इस जेल का नाम है ग्वांतानमो बे जेल। इस जेल का ये नाम इसलिए पड़ा हैं, क्योंकि यह ग्वांतानमो खाड़ी के तट पर स्थित है। अमेरिकी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, इस जेल में फिलहाल 40 कैदी हैं और हर कैदी पर सालाना करीब 93 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस जेल में करीब 1800 सैनिक तैनात हैं। यहां सिर्फ एक कैदी पर करीब 45 सैनिकों की नियुक्ति की हुई है। जेल की सुरक्षा में तैनात सैनिकों पर हर वर्ष करीब 3900 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। अब आप ये सोच रहे होंगे कि आखिर इस जेल में कैदियों …

Read More »

इस…कारण से भगवान शिव के कैलाश पर्वत पर नहीं जा पाते हैं लोग

आप सभी इस बात से वाकिफ होंगे कि हिंदू धर्म में कैलाश पर्वत का बहुत महत्व है, क्योंकि यह भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है. इसी के साथ इन सभी के बीच सोचने वाली बात यह है कि दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को अभी तक 7000 से ज्यादा लोग फतह कर चुके हैं, जिसकी ऊंचाई 8848 मीटर है, लेकिन कैलाश पर्वत पर आज तक कोई नहीं चढ़ पाया, जबकि इसकी ऊंचाई एवरेस्ट से लगभग 2000 मीटर कम यानी 6638 मीटर है. आज तक इस बात का रहस्य बना हुआ है कि आखिर ऐसा क्यों…? इसके पीछे कई कहानियां प्रचलित हैं. इस बारे में कुछ लोगों का मानना है कि कैलाश पर्वत पर शिव जी निवास करते हैं और इसीलिए कोई जीवित इंसान वहां ऊपर नहीं पहुंच सकता. इसी के साथ उनका कहना है मरने के बाद या वह जिसने कभी कोई पाप न किया हो, केवल वही कैलाश फतह कर सकता है. इसी के साथ ऐसा भी मान्यता है कि कैलाश पर्वत पर थोड़ा सा ऊपर चढ़ते ही व्यक्ति दिशाहीन हो जाता है और बिना …

Read More »

मुर्दा जानवरों को जलाकर बनाया जा रहा था खाने का तेल,

पाकिस्तान के सिंध प्रांत की राजधानी कराची में मुर्दा जानवरों के अवशेष से खाद्य तेल बनाने का चौकाने वाला मामला सामने आया है। जिसके बाद सिंध पर्यावरण एवं संरक्षण एजेंसी (एसईपीए) ने मुर्दा पशुओं के अवशेषों को गैर वैज्ञानिक तरीके से जलाने के मामले में एक कारखाने को सील किया है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार सिंध के मुख्यमंत्री के कानूनी व पर्यावरण मामलों के सलाहकार मुतर्जा वहाब के निर्देश पर एजेंसी की टीम ने कारखाने पर छापा मारा। टीम में शामिल अधिकारियों ने बताया कि कारखाने में एक बड़े से कड़ाहे में मृत पशुओं के अवशेष को जलाकर खाने में इस्तेमाल होने वाले तेल को बनाए जाने की सूचना मिली थी। अधिकारियों ने बताया कि मृत पशुओं के अवशेष जलाने से इलाके में बदबू फैलती थी और इससे निकली जहरीली गैस इलाके के पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रही थी। इससे निकलने वाले तेल को स्थानीय बाजार में बेचा जाता और इसमें निकली वसा को साबुन फैक्ट्रियों को सप्लाई किया जाता था। मुतर्जा वहाब ने टीम की कार्रवाई की सराहना की और कहा कि माफिया के संरक्षण में …

Read More »

दुनिया के ये पांच पेड़ है खरतनाक, ले सकते हैं जान

दुनिया में वैसे तो कई पेड़-पौधे हैं और ये धरती पर रहने वाले जीव-जंतुओं के लिए काफी फायदेमंद भी होते हैं, जो वातावरण को साफ-सुथरा रखते हैं और जीवन का एक महत्वपूर्ण आधार बनते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया में कुछ ऐसे खतरनाक और जहरीले पेड़ भी हैं, जो किसी की भी जान ले सकते हैं| इस पेड़ को ‘पोषमवुड’ के नाम से जाना जाता है। इसकी पेड़ की सबसे खतरनाक बात ये है कि इसपर लगे हुए फल पकने के बाद किसी बम की तरह धमाका करते हुए फट जाते हैं, जिसके बाद इसके बीज 257 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा में फैल जाते हैं। अगर कोई इंसान इसकी चपेट में आ जाए तो वो गंभीर रूप से घायल हो सकता है। ये पेड़ उत्तर और दक्षिण अमेरिका सहित अमेजन वर्षावन में भी पाए जाते हैं। ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला जिमपी स्टिंगर पेड़ अपने कांटों की  कारण से देखने में तो काफी सुंदर दिखता है, लेकिन ये कांटें काफी खतरनाक होते हैं। इन कांटों में जहर होता है, जो अगर इंसान के शरीर …

Read More »

इंसानो के मुकाबले बंदरों में जादा पाई जाती है ये…भयानक बीमारियां

कुछ समय पहले ही हिमाचल में चार से पांच साल की उम्र में बच्चों को जन्म देने वाली मादा बंदर अब महज दो साल में ही गर्भवती हो रही हैं. ऐसा मौसम में बदलाव के कारण नहीं, बल्कि इन बंदरों को भरपूर खाना मिलने से हो रहा है. जरूरत से ज्यादा खाना मिलने से इनमें समय से पहले बायोलॉजिकल बदलाव हो रहे हैं. प्रदेश की 548 पंचायतें बंदरों से प्रभावित हैं. नसबंदी के बावजूद प्रदेश में बंदरों की बढ़ती संख्या का असल कारण यही है. प्रदेश वन्य जीव विभाग की ओर से शिमला में करवाई कार्यशाला के दौरान रखी शोध रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में एक बंदर की उम्र 25 से 30 साल है. बंदर को जितना खाना चाहिए, उसे अब उससे ज्यादा मिल रहा है. इससे इनका वजन तेजी से बढ़ रहा है और ये दो साल की उम्र में ही गर्भ धारण कर रही हैं. जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि शिमला में तो बंदर जंक फूड, आइसक्रीम तक के शौकीन हो गए हैं. इनकी संख्या यदि कम करनी है तो पहले इन्हें खाना देना बंद …

Read More »