Thursday , 12 December 2019
Home >> मुद्दा यह है कि

मुद्दा यह है कि

भारत के नागरिकता बिल पर भड़का पाकिस्‍तान उठाए ये… सवाल

एक बार फ‍िर पाकिस्‍तान की ना-पाक हरकत सामने आई है। अनुच्‍छेद 370 का रोना रोने वाले पाकिस्‍तान ने अब भारतीय संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक पर अपनी आपत्ति दर्ज की है। इस विधेयक को उसने भेदभावपूर्ण कानून करार दिया है। पाकिस्‍तान ने कहा कि यह दोनों पड़ोसियों के बीच विभिन्‍न द्विपक्षीय समझौतों का भी पूर्ण उल्‍लंघन है। खासकर संबंधित देशों में अल्‍पसंख्‍यकों की सुरक्षा और अधिकारों से जुड़ा मामला है। पाकिस्‍तान के विदेश कार्यालय ने अपने एक बयान में कहा है कि भारत का यह नवीनतम कानून धर्म और विश्‍वास पर आधार‍ित है। यह कानून अंतरराष्‍ट्रीय कानून एवं मानवाधिकारों का सरासर उल्‍लंघन है। पाकिस्‍तान ने कहा कि इस कानून ने एक बार फिर भारतीय धर्मनिरपेक्षता और लोकतंत्र के दावों के खोखलेपन को उजागर किया है।इस बयान में आगे कहा गया है पाकिस्‍तान भेदभावपूर्ण कानून का विरोध करता हैे। यह अंतरराष्‍ट्रीय मानदंडों का उल्‍लंघन करता है। यह भारत का पड़ा‍ेसियों के साथ भय उत्‍पन्‍न करने वाला प्रयास है। इस विधेयक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से गैर-मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रयास किया गया है। इस विधेयक के तहत 31 …

Read More »

प्याज की कीमतों को लेकर शिवसेना ने केन्द्र सरकार पर किया हमला

मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर प्याज की कीमतों और भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर निशाना साधा है। अपने मुखपत्र सामना में शिवसेना ने कहा है कि वर्तमान में अर्थव्यवस्था धीमी हो रही है। लेकिन सरकार मानने के लिए तैयार नहीं है। प्याज की कीमतें 200 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई हैं। वित्त मंत्री ने इस मामले में बहुत ही बचकाना जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि मैं प्याज-लहसुन नहीं खाती हूं, इसलिए मुझसे प्याज के बारे में मत पूछो। ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री को इस मुद्दे को हल करने की कोई इच्छा नहीं है।   जब मोदी प्रधानमंत्री नहीं थे तब उन्होंने प्याज की बढ़ती कीमतों पर चिंता व्यक्त की थी। जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उन्होंने कहा था कि प्याज एक महत्वपूर्ण सब्जी है और सब्जी को लॉकर में रखना चाहिए। आज उनकी नीति बदल गई है। मोदी अब प्रधानमंत्री हैं और अर्थव्यवस्था ढह रही है। पहले एक बेहोश व्यक्ति प्याज की गंध से ठीक हो जाता था लेकिन यह अब भी संभव नहीं है क्योंकि वह अब बाजार …

Read More »

JNU हॉस्टल फीस वापसी की मांग पर पुलिस ने बरसाई लाठियां छिड़ा बवाल

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रावास फीस वापस लेने की मांग को लेकर राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च कर रहे जेएनयू छात्रों पर सोमवार को पुलिस ने लाठीचार्ज किया। कुछ छात्रों को हिरासत में भी लिया गया। हालांकि दिल्ली पुलिस इससे इनकार कर रही है। इस दौरान यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। एहतियातन मध्य दिल्ली के तीन मेट्रो स्टेशन बंद रहने के कारण यात्री घंटों परेशान रहे। छात्रसंघ ने फीस वापस होने तक आंदोलन जारी रखने और 12 दिसंबर से शुरू हो रहे सेमेस्टर परीक्षा के बहिष्कार का एलान किया। सूत्रों के मुताबिक मानव संसाधन विकास मंत्री मंगलवार को छात्रों से बात करेंगे। राष्ट्रपति भवन मार्च के चलते दिल्ली पुलिस ने कैंपस को छावनी में तब्दील कर दिया था। जेएनयू के तीनों गेट पर पुलिस का पहरा था। पुलिस की योजना थी कि छात्रों को कैंपस से बाहर न निकलने दिया जाए, पर छात्र अलग-अलग गेट से निकल गए। मुनिरका के पास छात्र जमा हुए और राष्ट्रपति भवन की ओर कूच किया। जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष एन साईं बालाजी के मुताबिक, छात्र मुनिरका से भीकाजी कांप्लेक्स के पास पहुंचे तो पुलिस ने …

Read More »

मोदी सरकार ने किया बड़ा…एलान अब हर माह मिलेगे इतने…हजार रूपये

मोदी सरकार की कई योजनाएं उपलब्ध है, लेकिन इन सरकारी योजनाओं में से एक ऐसी योजना भी है जो आपके लिए बेहद लाभदायक साबित हो सकती है। अगर आप इस योजना में निवेश करते हैं, तो आपको रिटायरमेंट के बाद पैसों की कोई चिंता नहीं होगी क्योंकि आपको हर माह 10,000 रुपये तक की पेंशन मिल सकती है। आइए जानते हैं इसके बारे में। क्या है प्रधानमंत्री वय वंदन योजना ? हम बात कर रहे हैं सरकार की प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (PMVVY) के बारे में। प्रधानमंत्री वय वंदन योजना के तहत नागरिकों को दस साल तक आठ फीसदी सालाना रिटर्न की गारंटी के साथ पेंशन दी जाती है। स्कीम के तहत पेंशन मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर लिया जा सकता है। योजना में 60 साल और उससे अधिक उम्र के नागरिक निवेश कर सकते हैं। 10,000 रुपये तक मिल सकेगी पेंशन बीते महीनों में सरकार ने इसमें निवेश की रकम की सीमा दोगुनी करने का एलान किया था। इससे वरिष्ठ नागरिकों को काफी लाभ होगा। सरकार द्वारा निवेश सीमा 15 लाख रुपये कर दी गई है, जबकि …

Read More »

अमेरिका में पाक समर्थित आतंकवाद के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन कड़ी कार्रवाई करने की मांग

अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तान के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ है. पाकिस्तान दूतावास के सामने भारतीय मूल के अमेरिकियों ने ‘आतंकी राज्य पाकिस्तान’ के विरोध में मार्च निकाला. आतंकियों का समर्थन करने वाले पाकिस्तान के विरोध में निकाली गई इस रैली में अफगानिस्तान में लड़ाई लड़ने वाले और काम करने वाले कई अमीरीकियों ने भी हिस्सा लिया. वाशिंगटन में पाक प्रायोजित आतंकवाद पर एक विशाल रैली का आयोजन हुआ. लोग हाथ में प्लेकार्ड लेकर पाकिस्तान के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे थे. एक प्लेकार्ड में लिखा था कि अमेरिका में बीते 20 वर्षों में हुए आतंकवाद की घटनाओं में 90 प्रतिशत पाकिस्तान का हाथ रहा है. प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि पाकिस्तान को वैश्विक समुदाय ने बार-बार आतंक के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा है, किन्तु पाकिस्तान फेल रहा है. प्रदर्शनकारियों ने मुंबई के 26/11 हमले के दोषियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की है और पीड़ितों को न्याय देने को कहा है. अमेरिका में बीते दिनों गोलीबारी की कई घटनाओं में पाकिस्तानी मूल के लोगों का नाम उजागर हुआ …

Read More »

रिहाई के बाद संसद पहुंचे चिदंबरम प्याज की कीमतों का किया प्रदर्शन

संसद के शीतकालीन सत्र में आज लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक को चर्चा के लिए पेश किया जा सकता है। बुधवार को मोदी कैबिनेट ने इस बिल को मंजूरी दी है। वहीं तिहाड़ जेल से जमानत मिलने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम राज्यसभा की कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए संसद पहुंच गए हैं। संसद परिसर में उन्होंने कांग्रेस नेताओं के साथ प्याज की कीमतों पर विरोध प्रदर्शन किया। आज दोपहर 12.30 बजे चिदंबरम एक प्रेस कांफ्रेस करेंगे। कैब के मौजूदा स्वरूप के खिलाफ हैं बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा, ‘पार्टी नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के मौजूदा स्वरूप के खिलाफ है। सरकार को विधेयक के पहलुओं पर पुनर्विचार करना चाहिए और इसे संसदीय समिति को भेजा जाना चाहिए।’ पूर्वोत्तर के लोगों की समस्या का होगा समाधान केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर कहा, ‘पूर्वोत्तर क्षेत्र के लोगों की चिंताएं हैं जिनका समाधान किया जाएगा। यह आश्वासन हमें गृह मंत्री अमित शाह ने दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की देखरेख में दिया है।’

Read More »

लोकसभा में पेश होगा ‘नागरिकता संशोधन बिल ओवैसी बोले देश को बांट रही सरकार’

मोदी सरकार का बहुचर्चित नागरिकता संशोधन बिल आज लोकसभा में पेश होने वाला है. इस बिल को लेकर कई तरह की आशंकाएं और कई तरह के सवाल उठने लगे हैं. सवाल उठाए जा रहे हैं कि क्या नागरिकता संशोधन बिल से भारत हिन्दू राष्ट्र बनने की ओर बढ़ रहा है? क्या नागरिकता संशोधन बिल देश में मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बना देगा? ऐसे सवाल एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने उठाए हैं. ओवैसी ने क्या कहा है? ओवैसी ने कहा है, ‘’ये बिल संविधान के आर्टिकल 14 और 21 के खिलाफ है. नागरिकता को लेकर एक देश में दो कानून कैसे हो सकते हैं. सरकार धर्म की बुनियाद पर ये कानून बना रही है. सरकार देश को बांटने की कोशिश कर रही है. सरकार फिर से टू नेशन थ्योरी को बढ़ावा दे रही है. सरकार चाह रही है कि मुसलमान देश में दोयम दर्जे का नागरिक बन जाए.’’ शशि थरूर ने क्या कहा है? इस बिल को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने संसद परिसर में कहा, ‘‘मुझे लगता है कि विधेयक असंवैधानिक है, क्योंकि विधेयक …

Read More »

अब सुरक्षित होंगी आशा व आशा संगिनी, जिले से 3387 को मिलेगा लाभ

केंद्र सरकार ने आशा एवं आशा संगिनी के लिए अहम योजना शुरूआत की है । प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना एवं सुरक्षा बीमा योजना के तहत समुदाय में स्वास्थ्य सुविधाओं को लोगों तक पहुँचाने वाली जनपद की 3258 आशा और 129 आशा संगनी को लाभ मिलेगा । यह जानकारी डीसीपीएम सुरेन्द्र कुमार ने दी। डीसीपीएम ने बताया कि स्थानीय जनपद में कुल 3258 आशा व 129 आशा संगिनी कार्यरत है । योजना के तहत समस्त ग्रामीण एवं शहरी आशा व आशा संगिनी को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा सुरक्षा बीमा योजना के तहत दुर्घटना पर लाभान्वित होंगी। उन्होंने बताया इन बीमा योजनाओं के लिए जिस बैंक में वर्तमान आशा का खाता है, उसी बैंक से बीमा हेतु फॉर्म प्राप्त करके आशाओं एवं संगिनियों को फॉर्म भरकर वहीं जमा कराना होगा। बीमा हेतु पंजीयन एवं बीमा दावे से संबन्धित कार्यवाही उनके संबन्धित बैंक के स्तर से फॉर्म भरवा कर पूरी की जाएगी। पंजीयन के उपरांत बीमा की एनरोलमेंट संख्या एवं बीमा हेतु जमा धनराशि की प्रतिलिपि प्रतिपूर्ति भुगतान हेतु आशाएँ संबन्धित सीएचसी/अर्बन पीएचसी में प्रस्तुत करेंगी। आशा से बीमा हेतु …

Read More »

काशी में परंपराओं ने ली करवट तो बेटियों ने पिता को कंधा ही नहीं बल्कि मुखाग्नि भी देकर निभाया फर्ज

वाराणसी विकास समिति के सदस्य और शव वाहिनी के संचालक व निजी बैंक के डीजीएम रहे सच्चिदानंद त्रिपाठी का गुरुवार को निधन हो गया तो उनकी चारों पुत्रियों ने न सिर्फ शव यात्रा में कंधा दिया बल्कि शव को बड़ी बेटी ने मुखाग्नि देकर मोक्ष नगर काशी में करवट ले रही परंपराओं की कडी में एक और फेहरिश्‍त जोड़ दी। सच्चिदानंद त्रिपाठी (65) मूल रुप से निवासी भभुआ, बिहार के रहने वाले थे जिनको लगभग एक वर्ष पूर्व गले में कैंसर की शिकायत हो गई थी। जानकारी होने के बाद से ही उनका इलाज निजी अस्पताल में कराया जा रहा था। लेकिन तकलीफ होने के साथ-साथ परेशानी धीरे धीरे बढ़ती ही जा रही थी आखिरकार उन्‍होंने अंतिम सांस ली तो बेटियों ने वैदिक परंपराओं के अनुसार ही बेटों का फर्ज निभाकर एक नजीर पेश की। परिजनों के अनुसार डॉक्टरों ने ऑपरेशन के लिए परिवार वालों को बताया था, जिसके बाद 14 जनवरी 2019 को मुंबई के टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल में गले का ऑपरेशन किया गया। कुछ समय ठीक होने के बाद लगभग दो महीने से परेशानी उनकी दोबारा बढ़ने लगी थी, जिसके बाद …

Read More »

इतिहास के पन्नों में दर्ज है जवाहर लाल नेहरू के बचपन की कहानियां

 बच्चों से बेहद प्यार करने वाले नेता के रूप में सिर्फ एक ही नाम सबसे पहले लिया जाता है। उनको चाचा नेहरू के नाम से सभी जानते हैं। चूंकि उनको बच्चों से बहुत अधिक प्यार था इसलिए उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। उनका बचपन भी कम खास नहीं था। आज भी उनके बचपन की ऐसी दर्जनों कहानियां इतिहास के पन्नों में दबी हुई हैं जिसे जानकर लोग चौंक पड़ते हैं। आज उनके जन्मदिवस के मौके पर हम आपको उनसे जुड़ी हुई कुछ ऐसी ही कहानियां बताते हैं। जवाहर लाल नेहरू के बचपन के कुछ दिलचस्प किस्से  जवाहर लाल नेहरू छोटे थे तो उनके पिता मोतीलाल नेहरू को गिफ्ट में दो बेशकीमती फाउंटेन पेन मिले थे। जवाहर लाल ने उनमें से एक पेन अपने पास रख लिया। इसके पीछे उनकी सोच थी कि उनके पिता को एक ही वक्त में दो पेन की जरूरत कभी नहीं पड़ेगी। जब मोतीलाल नेहरू को पता चला कि उनका एक पेन अपनी जगह पर नहीं है तो उन्होंने उसकी तलाश कराई। इससे वो इतने नाराज थे कि जवाहर लाल …

Read More »